अमेठी, जेएनएन। स्मृति इरानी के बेहद करीबी बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या के पांचवें दिन अस्थि कलश यात्रा निकली। प्रधान के इकलौते  बेटे अभय सिंह उर्फ सूरज जब हाथों में अपने पिता की अस्थि कलश लेकर निकला तो पूरा गांव परिवार के साथ दहाड़े मारकर रो पड़ा। जिसे देख वहां मौजूद हर शख्स की आंखें नम हो गईं तो सम्मान में शीश झुक गया। 

शामिल हुए कई नेता  

बरौलिया के अमर बोझा गांव से पूर्व प्रधान की अस्थि कलश यात्रा में बीजेपी के कई नेता शामिल हुए। इसमें सांसद स्मृति इरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता के साथ भाजपा के जिलाध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी समेत कई नेता भी शामिल हुए। 

स्मृति ने घर से श्मशान तक पूर्व प्रधान की अर्थी को दिया था कंधा

सुरेंद्र सिंह के लखनऊ में पोस्टमॉर्टम के बाद जब शव गांव पहुंचा तो अंतिम यात्रा में स्मृति ईरानी ने घर से श्मशान तक पूर्व प्रधान की अर्थी को कंधा दिया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए 12 घंटे के अंदर हत्यारों की गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं।

गांव में बना हुआ है पुलिस व पीएसी का पहरा 

बरौलिया गांव में पूर्व प्रधान की हत्या के बाद से लगातार पुलिस व पीएसी का पहरा बना हुआ है। पुलिस अधिकारी भी बीच-बीच में गांव का निरीक्षण कर हालात का जायजा ले रहे हैं। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Divyansh Rastogi