अमेठी (जेएनएन)। कवि मलिक मोहम्मद जायसी के उपान्यास पद्मावत पर आधारित फिल्म पद्मावत का इन दिनों जमकर विरोध चल रहा है। आज रिलीज हो रही फिल्म की कमाई का हिस्सा बांटने की मांग कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से उठी है। अमेठी के लोगों ने मांग की है कि फिल्म की कमाई का बड़ा हिस्सा कवि जायसी के क्षेत्र को भी मिले, जिससे क्षेत्र का विकास हो सके।

देशभर में भारी विरोध के बीच फिल्म पद्मावत आज रिलीज होने जा रही है। इसको देखते हुए जायस के लोगों ने डायरेक्टर संजय लीला भंसाली से फिल्म की आमदनी का कुछ हिस्सा मलिक मोहम्मद जायसी की जन्मस्थली के जीर्णोद्धार के लिए देने की मांग की है। पद्मावत के रचयिता कवि मलिक मोहम्मद जायसी के गृह नगर जायस के लोगों ने फि ल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली से मांग की है कि वह फि ल्म से होने वाली कमाई का कु छ हिस्सा मलिक मोहम्मद जायसी की जन्मस्थली के जीर्णोद्धार पर खर्च करें। 

एक तरफ पद्मावत का विरोध देश के कई हिस्सों में हो रहा है तो, अमेठी के जायस के लोगों ने फिल्म का स्वागत किया है। इसमे साथ ही फिल्म की कमाई का कुछ हिस्सा जायस को देने की मांग की है। जिससे कि मलिक मोहम्मद जायसी की जन्मस्थली और शोध संस्थान का जीर्णोद्धार हो सके।

महान सूफी संत और कवि मलिक मोहम्मद जायसी ने ही पद्मावत की रचना की थी। इसी किताब के कुछ अंश को लेकर फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली ने पद्मावत बनाई, जो कि रिलीज होने से पहले ही विवादों में है। जायस में ही मलिक मोहम्मद जायसी का जन्मस्थान है।

जिस जगह मलिक मुहमद का जन्म हुआ था वो पूरी तरह जर्जर हो चुका है। जायस कस्बे में ही जायसी के नाम पर एक शोध संस्थान बनाया गया है, जो कि देख रेख की अभाव में जर्जर होने की कगार पर है।

जायस के निवासियों का मानना है फिल्म पद्मावत महाकवि की किताब के आधार पर बनाई गई है। इस फिल्म के निर्माण पर करीब 200 करोड़ रुपए का खर्च आया है। अनुमान है कि इस फिल्म से अच्छी कमाई भी होगी। इस फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली को चाहिए कि फिल्म की कमाई का कुछ हिस्सा जायस को भी दें। जिससे कि उनके जन्मस्थान और शोध संस्थान का कायाकल्प हो सके।

गौरतलब है कि पद्मावत फिल्म को लेकर कश्तारिया समाज पुरजोर विरोध कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म को रिलीज करने का आदेश सुनाया है। इस बीच फिल्म पद्मावत पर देश भर में बैन लगाने की मांग को लेकर 16,000 महिलाओं ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी उनसे जौहर (इच्छामृत्यू) की इजाजत मांगी है।

 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप