अमेठी : सभी को जल्द टीका लग सके इसके लिए एक जुलाई से 18 साल से लेकर सीनियर सिटिजन तक को टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया है। सीएमओ ने सभी पीएचसी व सीएचसी अधीक्षकों से माइक्रो प्लान मांगा है।

स्वास्थ्य विभाग कोरोना टीकाकरण में कोई लापरवाही नहीं बरतने वाला है। जल्द ही सभी लोगों को कोविड का टीका लग जाएगा। इसके लिए क्लस्टर माध्यम से टीकाकरण को गति दी जाएगी।

जिले के सभी ब्लाक में टीका लगाने के लिए 13 लाख लोगों को प्रतिरक्षित करने की योजना तैयार की जा रही है। विभाग एक साथ दस हजार लोगों को टीका लगाएगा। इसके लिए दो सौ टीमों को लगाया जाएगा। तीसरी लहर आने से पहले सभी को टीका लगाकर सुरक्षित करने की पहल की जा रही है। इसी के तहत स्वास्थ्य विभाग माइक्रो प्लान तैयार कर रहा है। अभियान में एक टीम प्रचार अभियान, दूसरी टीकाकरण व तीसरी टीम का काम वैक्सीन लगने के बाद समस्या होने पर संबंधित अधिकारी को सूचित करना होगा। वहीं क्लस्टर बनाकर टीका करण से पूर्व गांव में दो दिन प्रचार किया जाएगा। फिर तीसरे दिन से टीकाकरण किया जाएगा।

सीएमओ डा. आशुतोष दुबे ने बताया की प्लान तैयार कर लिया गया है। सर्वे के अनुसार 13 लाख लोगों को टीका लगवाने का लक्ष्य है। जिसमें एक लाख 70 हजार लोग लाभ ले चुके हैं। क्लस्टर से टीकाकरण में तेजी आने की उम्मीद है। माइक्रो प्लान आ गया है।

सीएचसी अधीक्षक डा. महेंद्र त्रिपाठी का कहना है कि एक लाख लोगों का यहां टीकाकरण होना है।

पढ़ें अन्य खबरें..

स्वास्थ्य टीम ने किया बस यात्रियों का कोविड टेस्ट

अमेठी : स्वास्थ्य टीम ने बुधवार को बस अड्डे पर आवागमन कर रहे बस यात्रियों का कोविड टेस्ट किया। संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य महकमा सक्रिय है। रेल व बस यात्रियों की टेस्टिग स्वास्थ्य टीम द्वारा लगातार की जा रही है। कई यात्री मास्क नहीं लगाए थे। जिसको लेकर टीम ने जागरूक किया।

चिकित्सक डा. वीके सिंह ने कहा कि अभी कोविड का खतरा पूरी तरह से बरकरार है। जरा भी लापरवाही न करें। आपकी एक छोटी सी गलती से यह संक्रमण फैल सकता है। लैब टेक्नीशियन ने जिन यात्रियों ने मास्क नहीं लगाए थे, उन्हें मास्क वितरित किया।

उन्होंने लोगों से अपील की मास्क और सैनिटाइजर आपका हथियार है। जो लोग टीका नहीं लगवाए हैं। वह प्रमुखता से अपने सभी कार्य स्थगित कर टीका अवश्य लगवाएं। टीका लगवाने से आप स्वस्थ रहेंगे। इससे कोविड संक्रमण का खतरा भी काफी कम रहता है। बस आपको पूरा एहतियात बरतना है। अधीक्षक डा. सौरभ सिंह ने बताया कि 105 यात्रियों का आरटीपीसीआर, 61 यात्रियों का एंटीजन टेस्ट किया गया है। टीम प्रतिदिन टेस्टिग का कार्य कर रही है। साथ ही टीकाकरण के लिए टीम में शामिल कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। बताया कि अस्पताल में भी आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए एक टीम लगाई गई है। जिन मरीजों में लक्षण दिखाई देता है। उनकी टेस्टिग के बाद ही दवा दी जा रही है। टीम में डा. ब्रिकेश, अनिल सिंह, सिद्धांत पांडेय शामिल रहे।

Edited By: Jagran