अमेठी (दिलीप सिंह)। अमेठी के अचार के चटखारे शनिवार से दिल्ली में शुरू होने जा रहे फूड फेस्टिवल में सुर्खियां बटोरेंगे। हो भी क्यों न। अमेठी की दस बेटियों के कौशल और स्वरोजगार का यह स्वाद मायने रखता है। तभी तो दुनिया के तीस देशों के लजीज व्यंजनों में ‘अमेठी पिकल्स’ अपनी जगह बनाने में सफल हुआ है।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी की पहल पर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत अमेठी की इन दस युवतियों को अचार बनाने और पैकेजिंग का प्रशिक्षण दिया गया था। इन युवतियों का दल इस दो दिवसीय आयोजन में अमेठी के अचार को दुनिया के सामने प्रस्तुत करेगा।

‘वर्ल्ड ऑन ए प्लैटर’ नाम से आयोजित इस इंटरनेशनल फूड फेस्टिवल में यूं तो सात महाद्वीपों के तीस से अधिक देश अपने चुनिंदा व्यंजनों के साथ प्रतिभाग कर रहे हैं, लेकिन यह पहली बार है, जब अमेठी की बेटियों को भी ऐसे किसी आयोजन में हिस्सा लेने का मौका मिला है।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत जिले के जामो में चल रहे केंद्र से प्रशिक्षण प्राप्त दस युवतियों का दल आम, नींबू, लहसुन, लाल व हरी मिर्च से बनाए गए अचार का प्रदर्शन करेगा। इसे ‘अमेठी पिकल्स’ नाम दिया गया है। युवतियों को स्वाका स्किल्स नामक संस्था ने अचार बनाने का प्रशिक्षण देने के अलावा पैकेजिंग में सहयोग किया है।

50 युवतियों को मिल चुका प्रशिक्षण

जामो में प्रधानमंत्री कौशल केंद्र का शुभारंभ सालभर पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने किया था। अचार बनाने के मामले में अब तक जिले के जामो प्रशिक्षण केंद्र में कुल 50 युवतियां प्रशिक्षण प्राप्त कर चुकी हैं। केंद्र पर कंप्यूटर, ड्राइविंग, सिलाई, कढ़ाई आदि का भी प्रशिक्षण दिया जाता है।

...तो खुलेंगे संभावनाओं के द्वार

फूड फेस्टिवल में दुनिया को अमेठी के अचार का जायका पसंद आ गया तो यह मील का पत्थर साबित होगा। टीम के सदस्यों के अनुसार जायका पसंद आने पर वहीं से ऑर्डर की बुकिंग भी शुरू हो सकती है।

आयोजन में उत्तर प्रदेश से महज तीन जिलों का चयन किया गया है। अमेठी की युवतियां अचार का प्रदर्शन करेंगी तो सीतापुर जनपद की युवतियां जरदोजी व आजमगढ़ की युवतियां चिकनकारी में अपना हुनर दिखाएंगी।

दीदी (स्मृति ईरानी) ने अमेठी से जो वादा किया था, उसे वे निभा रही हैं। यह अमेठी के लिए गौरव का विषय है कि यहां की बच्चियों के हुनर को पूरी दुनिया देखेगी।

-विजय गुप्ता, पीआरओ, स्मृति ईरानी

अचार निर्माण जैसे कुटीर उद्योग के लिए यह प्रयास नई संभावनाएं लाएगा। जल्द ही अमेठी में एक फैक्ट्री लगाकर हुनर को उद्योग की शक्ल दी जाएगी।

-शरद चौधरी, प्रबंध निदेशक, स्वाका स्किल्स 

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप