अंबेडकरनगर : मौसम के मिजाज में उठा-पटक का सिलसिला जारी है। शनिवार को सुबह दिन निकलने के साथ ही हावी हुआ कोहरा करीब आधे घंटे में गायब हो गया। इसके बाद चटख धूप खिली। ऐसे में कुछ देर तक यातायात व्यवस्था में खलल पड़ा। हालांकि इसके बाद दिनभर सफर निर्बाध रहा। उधर बीते शुक्रवार की शाम आसमान पर छायी काली घटाएं बारिश होने का संकेत देकर वापस लौट चुकी है। रात के समय गलन हावी हो रही है। निकाय प्रशासन की ओर से रैन बसेरे इंतजाम किया जा रहा है। जिला प्रशासन ने अलाव जलाए जाने के लिए तहसीलों को मौसम पर नजर रखने को निर्देशित किया है। वहीं शनिवार को जिले का तापमान अधिकतम 29 डिग्री सेल्यिस तथा न्यूनतम 16 डिग्री सेल्सियस पर ठहरा है। टॉन्सिल में संक्रमण का खतरा : चिकित्सक मौसम में उतार-चढ़ाव के बीच सेहत को लेकर खास एहतियात बरतने की हिदायत देते हैं। जिला अस्पताल में फिजीशियन डॉ. डीपी वर्मा बताते हैं बच्चों में मिलने वाली यह आम समस्या टॉन्सिल में संक्रमण के कारण होती है। इससे गले में काफी दर्द होता है। खाना खाने में दिक्कत होती है, तेज बुखार भी हो सकता है। यह बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण से हो सकता है। इससे बचे रहने के लिए इस मौसम में ठंडी चीजों का प्रयोग करने से बचें। गर्म भोजन और गुनगुने पानी का प्रयोग करें।

बसों का टोटा, विलंबित रहीं ट्रेनें : कोहरे की धमक के बीच यातायात व्यवस्था प्रभावित होने लगी है। सड़क मार्ग पर वाहनों की रफ्तार रात के समय मंद पड़ने के साथ ही बसों का टोटा है। ऐसे में यात्रियों को सर्द मौसम में इंतजार भारी पड़ा। वहीं अकबरपुर रेलवे स्टेशन से होकर गुजरने वाली ट्रेनों में कैफियत एक्सप्रेस चार घंटे, सियालदह एक्सप्रेस पांच घंटे, वाराणसी-लखनऊ पैसेंजर एक्सप्रेस सात घंटे, दून एक्सप्रेस तीन घंटे, किसान एक्सप्रेस एक घंटे, फरक्का एक्सप्रेस छह घंटे, कोटा-पटना एक्सप्रेस छह घंटे, लोकनायक एक्सप्रेस एक घंटे, साबरमती एक्सप्रेस चार घंटे विलंबित रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस