अंबेडकरनगर: शारदीय नवरात्र के पावन पर्व का समापन हो रहा है। शुक्रवार को गाजे-बाजे के साथ माता दुर्गा की मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा। दशहरे मेले का आयोजन होने के साथ रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता कर लिए हैं। विसर्जन स्थल, रैली समेत मेले एवं पुतला दहन स्थलों के चप्पे-चप्पे पर मजिस्ट्रेट और पुलिस का पहरा लगाया गया है। ड्रोन कैमरे से पुलिस निगरानी करेगी। अराजक तत्वों पर निगरानी के लिए पुलिस ने खुफिया विभाग को सतर्क किया है। अपर पुलिस अधीक्षक संजय राय ने बताया कि मजिस्ट्रेट, पुलिस और पीएसी के साथ 14 अक्टूबर की शाम छह बजे से 15 अक्टूबर तक प्रत्येक आयोजन के सकुशल संपन्न होने तक अलर्ट रखा गया है। समस्त पुलिस बल दंगा नियंत्रण के संसाधन से लैस है। अग्निशमन दल और क्यूआरटी को सक्रिय रहने का निर्देश दिया गया है।

पांच जोन में बांटा गया जिला: विसर्जन, दशहरा मेला व रावण पुतला दहन को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए जनपद को पांच जोन में बांटा गया है। प्रत्येक जोन में निगरानी की कमान संबंधित तहसील के एसडीएम और सीओ को सौंपी गई है। इसके अलावा प्रत्येक थाने पर एक-एक मजिस्ट्रेट और इंस्पेक्टर की तैनाती हुई है। आरटीसी के 205 पुलिस कर्मियों के अलावा पीएसी की एक कंपनी और एक प्लाटून को लगाया गया है।

नदियों में नहीं होगा विसर्जन: जिले में 1658 स्थानों पर दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित हैं। इनका विसर्जन प्रत्येक वर्ष की भांति निर्धारित स्थानों पर होगा। हालांकि नदियों में विसर्जन के बजाए गड्ढा बना एवं पानी भरकर होगा। वहीं नदियों में इस दौरान स्नान करने की अनुमति नहीं होगी। इससे इतर 32 स्थानों पर रावण का पुतला दहन होगा। 78 स्थानों पर रामलीला मंचन हो रहा है। 32 स्थानों पर दशहरा का मेला लगेगा। टांडा, अकबरपुर, जलालपुर में सख्त पहरा: विसर्जन, रावण दहन एवं मेले के दौरान टांडा, अकबरपुर व जलालपुर तहसील में खास चौकसी बनी रहेगी। जिलाधिकारी सैमुअल पॉल, पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी एवं अपर पुलिस अधीक्षक संजय राय समेत थाने की पुलिस भ्रमणशील रहेगी। एसपी के साथ 12 सदस्यीय स्वाट टीम एवं फोर्स मुस्तैद होगी। एएसपी के साथ सात पुलिस कर्मी और फोर्स तैनात रहेगी। कोतवाली अकबरपुर में उप निरीक्षक समेत 22 तथा टांडा में 27 पुलिस कर्मी तैनात हुए हैं। बसखारी में 14, जलालपुर में 13, आलापुर और राजेसुल्तानपुर में पांच-पांच, जहांगीरगंज में चार, अलीगंज में आठ, इब्राहिमपुर में नौ, हंसवर में पांच, सम्मानपुर में चार, बेवाना में छह, अहिरौली में चार, भीटी में दो आरक्षियों को भेजा गया है। इससे इतर पीआरवी टीमों को चौकन्ना किया गया।

हाट स्पाट पर रहेगी पिकेट : थानों के हाटस्पाट को चिन्हित कर पिकेट लगाने, इंटरनेट मीडिया में फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप आदि पर नियमित निगरानी होगी। अफवाहों का खंडन करने के साथ इसे फैलाने वालों पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। पुलिस कार्यालय के कंट्रोल रूम से जिलेभर की रिपोर्ट पर नजर रखी जाएगी।

Edited By: Jagran