अंबेडकरनगर : कुपोषण से मुक्ति के लिए जागरूक होना सबसे जरूरी है। उक्त बात ग्राम हरिहरपुर आंगनबाड़ी केंद्र पर पोषण अभियान पखवाड़ा के तहत कम्युनिटी किचन गार्डेन के शुभारंभ पर बाल विकास परियोजना अधिकारी विनोद कुमार ने कही।

उन्होंने कहा कि कुपोषण जैसी बीमारी को दूर करने के लिए हर नागरिक को जागरूक होना पड़ेगा। इसके लिए हर व्यक्ति को किचन गार्डेन का उपयोग करना चाहिए। इसमें सहजन, आंवला, नींबू एवं हरी पत्तेदार सब्जियां लगाएं और इसका प्रयोग कर कुपोषण से दूर रहें। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रीता वर्मा, सुमन पांडेय, आशा द्विवेदी, सुपरवाइजर बीना ओझा, सुभाषी सिंह, कर्मावती आदि उपस्थित रहे।

जलालपुर में पोषण माह के तहत सीडीपीओ बलराम सिंह के साथ मुख्य सेविका आशा चौधरी, शिव देवी, शिव कुमारी सिंह ने दर्जनभर स्थलों का निरीक्षण किया। रुकुनपुर ग्राम सभा में बच्ची मैथिली एवं दिव्यांशी का वजन कराया। मुसहर बस्ती में अति कुपोषित 12 माह के आजाद का वजन मात्र साढ़े तीन किलोग्राम पाया गया। सीडीपीओ ने बच्चे को एनआरसी पोषण पुनर्वास केंद्र जिला अस्पताल में भर्ती कराने का प्रयास किया, लेकिन मां प्रियंका एवं पिता संतोष ने इनकार कर दिया। सीडीपीओ ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से लोगों को स्वास्थ्य रक्षा के लिए किचन गार्डेन का महत्व बताने का आह्वान किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस