अंबेडकरनगर : बेसहारा परिवारों को गंभीर रोगों का इलाज आसानी से बेहतर ढंग से हो सके इसके लिए आयुष्मान योजना तहत अब छह स्वास्थ्य केंद्र एवं एक निजी अस्पताल का और चयन कर इसका दायरा बढ़ाया गया है। छूटे परिवारों को चिह्नित करते हुए उन्हें भी पांच लाख प्रति वर्ष की सीमा तक की इलाज की सुविधा प्रदान करने के लिए नई योजना मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू की है। इसमें 28 हजार 476 नए लाभार्थियों को शामिल किया गया है। अब लाभार्थियों की संख्या एक लाख 64 हजार 869 तक पहुंच गई है। आयुष्मान स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत जिले के चयनित एक लाख 64 हजार 869 पात्र परिवारों में से 1872 मरीजों का इलाज कर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। संयुक्त जिला चिकित्सालय व अन्य चिकित्सालयों से अब तक एक लाख 44 हजार 603 पात्रों को गोल्डन कार्ड दिया जा चुका है। इस योजना के तहत 1350 बीमारियों को आच्छादित किया गया है। इसमें राजकीय क्षेत्र के तथा निजी क्षेत्र के चयनित अस्पतालों में गरीबों का निश्शुल्क इलाज किया जा रहा है। सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया निजी अस्पतालों को जोड़ा गया है। इससे हार्ट, कैंसर, यूरो, स्ट्रोक, पीडिया, गाइनी, बर्न, आर्थो, ट्रॉमा, न्यूरो जैसी सभी सुपर स्पेशलिटी सुविधाएं मिलेंगी।

---------

-14 अस्पतालों में इलाज की सुविधा: जन आरोग्य योजना के अंतर्गत चयनित हर परिवार को साल भर में पांच लाख रुपये का चिकित्सा बीमा दिया जा रहा है। मरीजों के इलाज के लिए पहले जिला चिकित्सालय, राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर, जलालपुर, टांडा व बसखारी सीएचसी के साथ दो निजी अस्पताल रामा हॉस्पिटल एवं कनक हॉस्पिटल में उपचार की सुविधा थी। अब भीटी, कटेहरी,रामनगर, भियांव, जहांगीरगंज व अकबरपुर सीएचसी के अलावा निजी क्षेत्र के साकेत हॉस्पिटल को चयनित किया गया है।

--------

दो निजी अस्पतालों ने खड़े किए हाथ :

योजना के तहत अभी तक पहले चरण में दो निजी अस्पताल चुने गए थे। इसमें रामा हॉस्पिटल एवं कनक हॉस्पिटल में बकाया है। इससे अब वहां पर इलाज ठप कर दिया गया है। इसमें कनक का पांच लाख 82 हजार 800 रुपये तथा रामा हॉस्पिटल का एक लाख 23 हजार 520 रुपये बकाया है।

----------

आयुष्मान योजना के तहत पात्रों का चयन किया गया है। इसमें गंभीर रोगियों का इलाज किया जा रहा है। अब तक कुल 1872 मरीजों को लाभ दिया गया है। वहीं अब निजी अस्पताल में भी पात्र मरीज अपना इलाज निश्शुल्क करा रहे हैं। हॉस्पिटल के बकाया देने के लिए शासन से बजट की मांग की गई है।

डॉ. आशुतोष कुमार सिंह

नोडल अधिकारी, आयुष्मान स्वास्थ्य बीमा योजना

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस