अंबेडकरनगर: दवा खाएं-फाइलेरिया रोग दूर भगाएं के संदेश को लेकर स्वास्थ्य कर्मी मंगलवार को जनपद न्यायालय पहुंचे। यहां जनपद न्यायाधीश पद्मनारायण मिश्र ने टीम के सामने फाइलेरिया रोधी दवा खाई। इसके बाद उन्होंने अन्य लोगों से फाइलेरिया रोधी दवा खाने की बात कही। कहा कि इसका शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं है, इसलिए इस अभियान में सभी अपनी जिम्मेदारी अवश्य निभाएं।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. श्रीकांत शर्मा ने बताया कि जनपद में अब तक 12, 54,672 व्यक्तियों ने दवा का सेवन किया है। वहीं कुल 659 रोगी भी मिले हैं, इसमें लिफोडिमा के 412 एवं हाइड्रोसील के 247 रोगी शामिल हैं। अकबरपुर ब्लाक में सबसे अधिक रोगी हैं। सीएमओ ने बताया कि सभी केंद्रों पर चिकित्सकों की एक रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गई है। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करना है। जिला मलेरिया अधिकारी नवनिधि मिश्रा ने बताया कि जिला जज कार्यालय, जनपद न्यायालय परिसर में दवाओं का सेवन कराया गया।

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में फाइलेरिया से बचने के लिए लोक गायक दल ने सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया।

इस दौरान कलाकारों ने बच्चों व अन्य लोगों को इस रोग से बचाव व हानि के बारे में जागरूक किया। बताया कि इस दौरान सर्वे भी किया जा रहा है, जो भी रोगी मिल रहे हैं, उन्हें तीन माह तक दवा प्रदान करना है। चिकित्सकों का मानना है कि बदले परिदृश्य में लोगों को स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील होना होगा। सभी को कोरोना प्रोटोकाल का अनुपालन अपनी दिनचर्या में शामिल करना होगा। इसके साथ ही जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कालेज में आपरेशन की सुविधा भी निश्शुल्क है।

Edited By: Jagran