प्रयागराज, जेएनएन। कोविड कालखंड में लोग रक्तदान करने से परहेज कर रहे हैं। खासतौर से स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय के ब्लड बैंक आने से सभी डर रहे हैं। जबकि यहां का ब्लड बैंक सभी वार्डों से पूरी तरह अलग है और प्रत्येक दिन इसे सैनिटाइज भी किया जा रहा है। रक्तदान की प्रक्रिया पूरी सुरक्षा के साथ अपनाई जाती है। जो रक्तदान नहीं करते हैं उन्हें सोचना होगा कि उनके दिए हुए रक्त से किसी जरूरतमंद की जान बच सकती है। कोई अगर ब्लड बैंक नहीं आना चाहता है तो वह अपने किसी सुरक्षित स्थान पर रक्तदान शिविर भी लगवा सकता है इसके लिए एसआरएन का ब्लड बैंक शिविर की व्यवस्था करेगा। वहां भी कोविड प्रोटोकाल का पालन कराया जाएगा।

कोरोना काल में रक्तदान शिविर भी नहीं लगे रहे
आजकल स्कूल कालेज बंद हैं इसलिए भी रक्तदान शिविर वहां नहीं लग पा रहे हैं। जिनका हीमोग्लोबिन 12.5 ग्राम फीसद या इससे अधिक है और उम्र 18 से 55 साल के बीच है वे रक्तदान कर सकते हैं। वजन कम से कम 45 किलो होना चाहिए। हालांकि रक्तदाता का स्वस्थ होना जरूरी है। पुरुष हैं तो साल में चार बार रक्त दे सकते हैं और महिलाएं साल में तीन बार रक्तदान कर सकती हैं। रक्तदान के लिए ब्लड बैंक के परामर्शदाता विनोद कुमार तिवारी से 9795158566 पर संपर्क किया जा सकता है।
- डा. वत्सला मिश्रा, विभागाध्यक्ष ब्लड बैंक एसआरएन