प्रयागराज, जेएनएन। अयोध्या में भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के लिए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) हर किसी से मदद मांगेगी। निधि समर्पण अभियान में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के अलावा विपक्षी दलों के नेताओं से भी सहयोग मांगा जाएगा। यह जानकारी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव व विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने मंगलवार दोपहर केसर भवन स्थित विहिप के प्रांतीय कार्यालय में पत्रकारों को दी।

चंपत राय ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े जनसंपर्क अभियान की शुरुआत मकर संक्रांति से होगी और यह माघी पूर्णिमा तक चलेगा। दावा किया कि सामाजिक व सांस्कृतिक दृष्टि से इससे पहले इतने बड़े पैमाने पर कोई जनसंपर्क अभियान नहीं चला था।

12 करोड़ 25 लाख घरों में जाएंगे कार्यकर्ता : श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि निधि समर्पण योजना के तहत देश के करीब पांच लाख गांवों में 12 करोड़ 25 लाख घरों में कार्यकर्ता जाएंगे और मंदिर निर्माण के लिए सहयोग मांगेगे। प्रयागराज परिक्षेत्र में प्रयागराज के साथ मीरजापुर, सोनभद्र , चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, कौशांबी, प्रतापगढ़, गाजीपुर, अमेठी, सुल्तानपुर में कुल 16 हजार गांवों में 50 लाख परिवारों के पास विहिप कार्यकर्ता व आरएसएस स्वयंसेवक टोलियों में जाएंगे। चंपत राय का कहना था कि अभियान देश की अस्मिता व सांस्कृतिक उन्नयन का प्रतीक है। इसमें सरकार से सहयोग नहीं लिया जाएगा लेकिन सरकारी कर्मचारी मदद दे सकते हैैं। 

सीएम योगी आदित्यनाथ दे चुके हैं 11 लाख रुपये : श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने निजी खाते से 25 मार्च को 11 लाख रुपये सहयोग राशि दी है। अभियान शुरू होने पर विहिप कार्यकर्ता लखनऊ में मुख्यमंत्री व राज्यपाल से फिर मिलेंगे। जिलों में महापौर व अन्य प्रमुख लोगों के पास कार्यकर्ताओं की टोली पहुंचेगी। गैर हिंदू सहयोग करना चाहेंगे तो उसे भी स्वीकार किया जाएगा। अब तक मुस्लिम समुदाय के पांच लोग सहयोग राशि दे चुके हैं। आइपीएस किशोर कुणाल ने तीन अप्रैल को दो करोड़ रुपये की सहायता राशि दी है। शिवसेना की तरफ से एक करोड़ रुपये का चेक मिला है। कथा वाचक मोरारी बाबू ने भक्तों से 11 करोड़ रुपये दिलाया है।

संग्रह होने वाले धन का होगा आडिट : चंपत राय का कहना है कि 48 घंटे के ही भीतर एकत्र धनराशि निकट के बैंक में जमा कराई जाएगी। प्रत्येक जिले में सीए से आडिट कराया जाएगा। अभियान के प्रचार प्रसार के लिए समाचारपत्रों में विज्ञापन दिए जा रहे हैं। अभियान असरकारी किंतु असरकारी रहेगा। इसके तहत 10, 100 व 1000 रुपये के कूपन देकर लोगों से सहयोग राशि जुटाई जाएगी। इससे अधिक सहायता राशि देने वालों को रसीद दी जाएगी। सभी पर श्रीराम का चित्र होगा। मंदिर के इतिहास की भी जानकारी दी जाएगी। प्रयास होगा कि प्रत्येक घर में श्री राम का एक चित्र जरूर पहुंचे।

जनवरी में शुरू होगा निर्माण कार्य : एक सवाल के जवाब में चंपत राय ने जानकारी दी कि जनवरी में निर्माण शुरू होने की उम्मीद है। तीन वर्ष में कार्य पूरा कर लिया जाएगा। बताया कि शिलापूजन के साथ ही काम शुरू करने का लक्ष्य था लेकिन तकनीकी कठिनाइयों के चलते नीव का काम नहीं शुरू हो सका।

अयोध्या में नहीं है डर का माहौल : अयोध्या में समरसता का दावा करते हुए विहिप उपाध्यक्ष ने कहा कि आज वहां न तो किसी में डर है न कोई और शंका। शिलापूजन में मुस्लिम समुदाय के तीन लोगों को बुलाया गया था। पिछले 34 साल से अयोध्या में कोई विवाद नहीं हुआ है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021