प्रयागराज, जेएनएन। वाराणसी मंडल में हरदत्तपुर-कछवा रोड रेल खंड पर इंजीनियरिंग का कार्य होने के कारण नई दिल्ली से वाराणसी जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस प्रयाग जंक्शन, जंघई से होकर चल रही थी। शनिवार को यह गाड़ी इलाहाबाद सिटी स्टेशन होकर गई। इसी रूट से वाराणसी से आई भी। आगे भी इस ट्रेन का आवागमन इसी रूट से होगा। वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट 24 सितंबर से बदल गया था।

ट्रैक की मरम्मत और दोहरीकरण के कारण बदला था रूट

पहले ट्रेन को चार सितंबर तक प्रयाग जंक्शन, जंघई होकर चलाने की योजना थी, लेकिन बाद में इसकी समय सीमा 11 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई थी।

15 फरवरी को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में देश की पहली सेमी हाईस्पीड वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई थी तो ट्रेन इलाहाबाद जंक्शन के बाद प्रयाग जंक्शन, जंघई होकर वाराणसी जाती थी। बाद में इसका रूट बदलकर इलाहाबाद सिटी स्टेशन से कर दिया गया। ट्रैक की मरम्मत और दोहरीकरण का काम होने के कारण कई बार वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट बदला गया। हालांकि इलाहाबाद जंक्शन के बाद ट्रेन का स्टापेज वाराणसी है। इसलिए रूट बदले जाने पर यात्रियों को कोई दिक्कत नहीं हुई। वाराणसी मंडल के जनसंपर्क अधिकारी महेश गुप्ता ने बताया कि शनिवार से वंदे भारत एक्सप्रेस इलाहाबाद सिटी स्टेशन से होकर चली।

बिखरी निर्माण सामग्री में अटकते हैं यात्री

प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन के कायाकल्प का कार्य अधूरा पड़ा है। प्लेटफार्म नंबर तीन पर तो फर्श को खोदकर छोड़ दिया गया है। निर्माण सामग्री डंप कर दी गई है। इससे यात्रियों को परेशानी होती है। पद्मावत एक्सप्रेस, भोपाल एक्सप्रेस, इंटरसिटी एक्सप्रेस, प्रतापगढ़- वाराणसी पैसेंजर जैसी महत्वपूर्ण गाडिय़ां इसी प्लेटफार्म पर रुकती हैं। गिट्टी, टाइल्स, सरिया, मोरंग, मिट्टी आदि डंप होने से यात्री उसमें फंसकर गिरते रहते हैं। यह हाल तब है जब प्रतापगढ़ जंक्शन रेलवे के लिस्ट में ए ग्रेड का है। सुविधाओं के नाम पर यहां कई कमियां हैं। बैठने के लिए बेंच कम है। इस वजह से तमाम यात्री फर्श पर बैठकर ट्रेनों के इंतजार को मजबूर होते हैं। इसके साथ ही पेयजल व्यवस्था भी नहीं सुधारी गई है। इस बारे में एडीईएन निहालुद्दीन का कहना है कि बरसात के कारण काम धीमा था। अब तेजी लाई जाएगी।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप