प्रयागराज, जेएनएन। यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 में शामिल होने वाली छात्रा के परिजनों से उत्तीर्ण कराने के लिए धन मांगने का सनसनीखेज प्रकरण फिर सामने आया है। बोर्ड प्रशासन को इसके पहले भी इस तरह की शिकायतें मिल चुकी हैं। इसीलिए 21 अप्रैल को सचिव नीना श्रीवास्तव ने वेबसाइट पर अभिभावकों व छात्र-छात्राओं को संबोधित पत्र अपलोड कराया है कि वह ऐसे लोगों के झांसे में न आएं। अपने को बोर्ड कर्मचारी बताने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी है।

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा 2020 की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन इस समय चल रहा है। अगले माह रिजल्ट देने की तैयारी शुरू हो गई है। इसी बीच रायबरेली जिले के चर्चित कांग्रेस नेता रमेश शुक्ल के मोबाइल नंबर पर शुक्रवार को फोन आया। उसमें कहा गया कि उनके परिवार की छात्रा इंटर में है और भौतिक विज्ञान में उत्तीर्ण कराने के लिए आज ही धन मुख्यालय पर भेजे। फोन करने वाले अपना नाम परीक्षा सेक्शन का संदीप कुमार बताया। शुक्ल का कहना है कि वे समझ गए कि कोई जालसाज है इसलिए धन देने का आश्वासन दिया और कहा कि लॉकडाउन में पैसे कैसे भेज सकते हैं। इसलिए खाता नंबर दीजिए उसी में धन उपलब्ध करा दें। हालांकि शाम तक फोन करने वाले ने कोई खाता नंबर नहीं दिया।

कांग्रेस नेता ने फोन नंबर को ट्रू कॉलर पर डाला पता चला कि फोन करने वाला बिहार के बसकटी का रहने वाला कोई राजा कुमार है। कांग्रेस नेता ने इस घटना से बोर्ड सचिव को अवगत करा दिया है। सचिव नीना श्रीवास्तव का कहना है कि बोर्ड का कोई अधिकारी या फिर कर्मचारी इस तरह की हरकत नहीं कर सकता है। जल्द ही इस मामले की एफआईआर दर्ज कराएंगे। ज्ञात हो कि इसके पहले भी पूर्वांचल के कुछ जिलों में इसी तरह के फोन पहुंचने की शिकायत हुई थी। कुछ जालसाजों ने हाईस्कूल व इंटर के छात्र-छात्राओं को बिना मूल्यांकन उत्तीर्ण करने का संदेश सोशल मीडिया पर वायरल किया था।

29 जिलों में मूल्यांकन पूरा

बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि उत्तर प्रदेश के 29 जिलों में मूल्यांकन पूरा हो गया है। कुछ जिलों के कई केंद्रों पर भी कार्य पूरा हो चुका है। इस माह के अंत या जून के प्रथम सप्ताह में कार्य पूरा होने की उम्मीद है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस