राज्य ब्यूरो, प्रयागराज। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Board) ने अब बोर्ड परीक्षा में केंद्र व्यवस्थापक, कक्ष निरीक्षक एवं परीक्षक की ड्यूटी लगाने से पहले सभी माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों व प्रधानाचार्यों के डाटा आनलाइन अपडेट कराने के निर्देश दिए हैं।

इसके लिए बोर्ड सचिव दिब्यकांत शुक्ल ने प्रधानाचार्यों को दस दिसंबर और जिला विद्यालय निरीक्षकों (डीआइओएस) को 20 दिसंबर तक का समय दिया है। डाटा अपडेट/अपलोड के लिए परिषद की वेबसाइट को क्रियाशील कर दिया गया है। इसी डाटा के आधार पर बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा-2023 में ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके पहले परीक्षा केंद्रों के जिओ लोकेशन, परीक्षार्थियों का शैक्षिक डाटा परिषद के पोर्टल पर अपडेट कराया जा चुका है।

स्कूल छोड़ चुके या दिवंगत शिक्षकों के नाम पोर्टल से करें डिलीट

जिला विद्यालय निरीक्षकों (DIOS) को भेजे पत्र में बताया गया है कि अध्यापकों की नियुक्ति जिस कक्षा (हाईस्कूल अथवा इंटरमीडिएट) के लिए की गई है उनके अध्यापन का विषय कोड अपलोड किया जाना है। विद्यालय छोड़ चुके या दिवंगत शिक्षकों के नाम पोर्टल से डिलीट किए जाने हैं। नवनियुक्त अध्यापकों का डाटा अवश्य अपलोड होना है। कार्यरत किसी भी अध्यापक का विवरण छूटना नहीं चाहिए। डिबार शिक्षकों को पोर्टल पर डाटा डिबार श्रेणी में दर्शाया जाना चाहिए।

किसी भी शिक्षक का विवरण दो विद्यालयों में अपलोड नहीं होना चाहिए। सभी अध्यापकों के अन्य विवरणों के साथ उनके स्नातक एवं परास्नातक स्तर के विषयों के स्पष्ट विवरण एवं शैक्षिक प्रमाणपत्रों को अपलोड कराया जाना आवश्यक है। कार्यरत अर्ह शिक्षकों का विवरण अपलोड कराने का दायित्व प्रधानाचार्य का है।

प्रतिकूल स्थिति आने पर वही उत्तरदायी होंगे। विद्यालयों से डाटा अपलोड होने के बाद सीधे डीआइओएस के पोर्टल पर स्थानांतरित हो जाएगा। इसका परीक्षण कर डीआइओएस वांछित संशोधन के बाद पोर्टल पर सेव कर परिषद को फारवर्ड कराएंगे। इसी डाटा के आधार पर परीक्षा के दौरान और मूल्यांकन के समय ड्यूटी लगाई जाएगी। बोर्ड सचिव के मुताबिक यह तैयारी

Edited By: Ankur Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट