प्रयागराज, जेएनएन। यूं तो देश की आन, बान और शान की रक्षा करने वाले हमारे जांबाज सैनिकों को पूरा देश ही नमन करता है। हां यह अलग बात है कि सभी के नमन और श्रद्धांजलि अर्पित करने का अलग तरीका होता है। ऐसे ही एक शख्स हैं जो इन दिनों देश की यात्रा पर निकले हैं और शहीदों के परिवार वालों से मिलकर उनका हौसला बढ़ा रहे हैं। वह हैं वीर शहीदों की याद में बेंगलुरु से देश भ्रमण पर निकले उमेश गोपानाथ जाधव। वह प्रयागराज पहुंचे। वह पुलवामा में शहीद हुए मेजा के जवान के घर जाएंगे। अब तक वह देश के 12 राज्यों में शहीद हुए जवानों के घर जा चुके हैं। उनकी यात्रा का समापन पुलवामा की घटना के एक साल पूरा होने के साथ होगा।

पुलवामा में हुई आतंकी घटना से वह बहुत आहत हैं उमेश

महाराष्ट्र के औरंगाबाद निवासी उमेश गोपीनाथ जाधव बेंगलुरु में रहते हैं। वह बेंगलुरु में म्यूजिक स्कूल चलाते हैं। पुलवामा में हुई आतंकी घटना से वह बहुत आहत हुए। इसके बाद पुलवामा आतंकी घटना या बार्डर पर शहीद हुए अन्य जवानों के परिजनों से मिलने के लिए वह निकल पड़े। वह नौ अप्रैल 2019 को देश भ्रमण पर निकले थे। उनकी यात्रा को सीआरपीएफ बेंगलुरु में तैनात डीआइजी सनंद कमल ने हरी झंडी दिखाई थी। वह कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, गोवा, पांडिचेरी, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान आदि से होते हुए उत्तर प्रदेश पहुंचे। मंगलवार को प्रयागराज पहुंचे। यहां पर उन्होंने चंद्रशेखर आजाद पार्क, फांसी इमली आदि शहीद स्थलों पर शीश नवाया।

पुलवामा में शहीद हुए जवान के घर मेजा जाएंगे उमेश

उमेश ने बताया कि आज यानी बुधवार को पुलवामा में शहीद हुए मेजा के जवान के घर जाएंगे। उनके परिजनों से मिल कर उनका हौसला बढ़ाएंगे और उनका हालचाल लेंगे। इसके बाद ही वह अपनी आगे की यात्रा करेंगे। उमेश ने बताया कि यात्रा का समापन 14 फरवरी 2020 को पुलवामा में होगा।

 

Edited By: Brijesh Srivastava