प्रयागराज, जेएनएन। धूमनगंज इलाके की सैनिक कॉलोनी में कुछ माह पूर्व हुई युवक की हत्या के आरोपित अब तक नहीं पकड़ में आए हैं। दोनों कातिलों का घटना के दूसरे रोज ही पता चल गया था, लेकिन वे तब से फरार हैं। पुलिस का कहना है कि छापेमारी की गई, लेकिन वे घर पर नहींं मिले बल्कि महाराष्ट्र भाग गए हैं।

सुल्तानपुर के इमरान की सैनिक कालोनी में सात अगस्त को हुई थी हत्या

सात अगस्त की सुबह सैनिक कॉलोनी के पास मधुबन बिहार में 28 वर्षीय युवक की लाश मिली थी। पास में ही मिले मोबाइल फोन के जरिए पता चला कि वह सुल्तानपुर में सगरा इलाके का निवासी इमरान उर्फ आमिर था। पुलिस से खबर पाकर सुल्तानपुर से पत्नी रेशमा, पिता इबरार अहमद, मां रेहाना ने आकर उसकी पहचान की थी। इमरान करीब साल भर पहले ही रेशमा से शादी के बाद परिवार से अलग रहने लगा था। पता चला था कि वह प्रयागराज में नौकरी के इरादे से 10 हजार रुपये लेकर सुल्तानपुर के ही सोनू और मोहम्मद के साथ निकला था। उसी रात यहां धूमनगंज के मधुबन बिहार कॉलोनी में ईंट से सिर पर प्रहार कर उसका कत्ल कर दिया गया था।

एसपी सिटी ने कहा, कातिल कहीं भाग गए जाएं पर उन्हें सजा जरूर मिलेगी

इमरान के साथ आए दोनों युवक भी तभी से फरार हैं। पता चला कि वे चोरी जैसी वारदात पहले भी कर चुके थे। पुलिस ने कई बार सुल्तानपुर में छापेमारी की, लेकिन वे पकड़ में नहीं आए। पता चला है कि वे दोनों पुलिस से बचने के लिए महाराष्ट्र भाग गए। वहां छिपकर नौकरी करने लगे हैं। पुलिस उनके खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट हासिल कर रही है। एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव का कहना है कि कातिल कहीं भाग गए जाएं पर उन्हें सजा जरूर मिलेगी।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप