प्रयागराज, जेएनएन। लालगोपालगंज में एक दहेज लोभी पति ने अपनी पत्नी की ईंट से कूंचकर हत्या कर दी। वह शनिवार की शाम अपने ससुराल पहुंचा था। देर रात दूसरे कमरे में पत्नी को ले जाकर वारदात को अंजाम देकर फरार हो गया। वहीं, किराए पर रहने वाले ये छात्रों में यह अफवाह फैला दी गई कि शनिवार सुबह पूर्वांचल के जिलों में जाने वाले छात्रों के लिए सिविल लाइंस बस अडडे से बसें चलाई जाएंगी। भीड जुटते देख पुलिस प्रशासन भी पहुंच गया। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर वहां से हटाया। जबकि, कौशांबी में मंझनपुर के सोधिया गांव निवासी शारदा प्रसाद तीन दिन का सफर तय कर मंजिल तक पहुंचे है। नोएडा से कौशांबी तक के सफर में उन्‍हें काफी दूरी पैदल तय करनी पडी।

लालगोपालगंज में ससुराल पहुंचे युवक ने पत्नी की ईंट से कूंचकर हत्या की, गिरफ्तार

लालगोपालगंज में एक दहेज लोभी पति ने अपनी पत्नी की ईंट से कूंचकर हत्या कर दी। वह शनिवार की शाम अपने ससुराल पहुंचा था। देर रात दूसरे कमरे में पत्नी को ले जाकर वारदात को अंजाम देकर फरार हो गया। सुुबह महिला का रक्तरंजित शव देख मायकवाले अवाक रह गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। वहीं आरोपित युवक की तलाश की गई तो वह मिल गया। पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। लालगोपालगंज स्थित पाठक का पूरा गांव के लाला निर्मल ने अपनी 21 वर्षीय पुत्री सविता निर्मल की शादी मऊआइमा के घंसियारी गांव में बबलू निर्मल के साथ एक वर्ष पहले की थी। आरोप है कि शादी के 2 महीने बाद से ससुराल वालों ने दहेज की मांग करना शुरू कर दिया। बबलू मुंबई में रहकर अपना काम करता है। पति बबलू 2 माह पूर्व मुंबई से अपने घर वापस लौटा है। दहेज को लेकर ससुराल वाले बहू को आए दिन मारते पीटते थे। मामले को लेकर मायके वालों ने सविता को लगभग 2 माह पहले अपने घर बुला लिया था। जहां पत्नी ने 1 माह 8 दिन पहले मायके में एक बच्चे को जन्म दिया।

 Prayagraj Lockdown Day 5 : फेसबुक पर पोस्‍ट की बस चलने की सूचना, परेशान हुए लोग 

देशभर भर लॉकडाउन लागू होने के बाद शहर में रह रहे प्रतियोगी छात्र भी परेशान हैं। किराए पर रहने वाले ये छात्रों में यह अफवाह फैला दी गई कि शनिवार सुबह पूर्वांचल के जिलों में जाने वाले छात्रों के लिए सिविल लाइंस बस अडडे से बसें चलाई जाएंगी। इस पर यकीन सैकडों लोग सिविल लाइंस बस अडडे पर पहुंच गए। लेकिन यहां पहुंचे छात्रों को मायूसी हाथ लगी। भीड जुटते देख पुलिस प्रशासन भी पहुंच गया। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर वहां से हटाया।

 Prayagraj Lockdown Day 5 : नोएडा से कौशांबी पहुंचे शारदा प्रसाद सफर में किन मुसीबतों से हुए रुबरू

कोरोना वायरस की वजह से  22 मार्च से लॉकडाउन होने के बाद जिंदगी थम सी गई। काम के सिलसिले, पढ़ाई व  व्यापार  के लिए बड़े शहरों और महानगरों में रह रहे लोगों के सामने बहुत बड़ा संकट खड़ा हुआ। पूरी तरह से बंदी होने के बाद उनके सामने रोजी रोटी के संकट भी खड़े हुए। जिन फैक्ट्रियों में काम कर रहे थे। वहां के मालिकों ने भी उन्हें सहारा नहीं दिया। ऐसी परिस्थितियों में उन्हें अपना गृह जनपद आया। कुछ ऐसी ही कहानी है कौशांबी में मंझनपुर के सोधिया गांव निवासी शारदा प्रसाद की। जो तीन दिन का सफर तय कर मंजिल तक पहुंचे है। नोएडा से कौशांबी तक के सफर में उन्‍हें काफी दूरी पैदल तय करनी पडी। उसके बाद संयोग से उन्‍हें एक ट्रक मिल गया और यहां तक आ गए।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस