प्रयागराज, जेएनएन। छह माह पूर्व विवाहिता की ससुराल में संदिग्ध मौत हो गई थी। कोर्ट के आदेश पर शनिवार को पुलिस ने कब्र खोदवा कर शव को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं, कोरोना वायरस से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का फैसला लिया।

छह माह पूर्व दफनाया गया था महिला का शव, पुलिस ने खोद कर निकाला

छह माह पूर्व विवाहिता की ससुराल में संदिग्ध मौत हो गई थी। कोर्ट के आदेश पर शनिवार को पुलिस ने कब्र खोदवा कर शव को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि महिला की कैसे मौत हुई। हालांकि ससुराल के लोगों का कहना है कि विवाहिता की मौत सांप काटने से हुई थी। मामला पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ का है। हथिगवां थाना क्षेत्र के कैमा गांव निवासी नियाज शाह ने अपनी बेटी नसरीन बानो की शादी इसी इलाके के फकीराबाद सराय सैयद खां गांव निवासी सरताज अहमद के साथ दो वर्ष पूर्व की थी। उसकी एक बेटी अलनाज फातिमा है। तीन सितंबर को नसरीन बानो की ससुराल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। ससुराली जनों ने मायके पक्ष के लोगों को सूचना दी कि नसरीन की सांप काटने से मौत हो गई है। यह भी कहा कि उसका शव गांव के किनारे कब्रिस्तान में दफन कर दिया गया है।

Coronavirus :  इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय समेत सभी उच्च तकनीकी शिक्षण संस्थान 22 तक बंद

कोरोना वायरस से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का फैसला लिया। इस कड़ी में शनिवार को इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि), प्रोफेसर राजेंद्र सिंह (रज्जू भइया) राज्य विश्वविद्यालय, भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपलआइटी) और इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियङ्क्षरग एंड रूरल टेक्नोलॉजी (आइईआरटी) ने भी 22 मार्च तक संस्थान बंद करने का निर्णय लिया है। हालांकि, जिन संस्थानों में पूर्व में निर्धारित परीक्षाएं चल रहीं हैं, वह स्थगित नहीं होंगी।

Coronavirus :  सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में 262 कोरेनटाइन बेड आरक्षित

स्वास्थ्य विभाग स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल के नवनिर्मित सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल को कोरोना के संभावित मरीजों के लिए रिजर्व करा दिया गया है। अस्पताल के अलग-अलग ब्लॉक में कुल 262 कोरेनटाइन बेड (आइसोलेशन के साथ आरक्षित अलग बेड) आरक्षित कर दिए हैं जिसमें ऑक्सीजन के साथ डॉक्टर व अन्य स्टॉफ भी तैनात हैं। सीएमओ ने आरक्षित वार्डों का जायजा लिया। मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.एसपी सिंह ने बताया कि शासन के निर्देश के बाद सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल में कोरेनटाइन आरक्षित करा दिए हैं। यह पूरी तरह से सुरक्षित हैं। इसमें आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए हैं।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस