प्रयागराज, जागरण संवाददाता। एक के बाद एक लगातार बाइक चुराकर बेचने वाले टाइगर गैंग को प्रयागराज पुलिस ने बेनकाब कर दिया है। इस गैंग द्वारा चुराई गई 24 बाइक को भी बरामद किया गया, जिसकी कीमत 20 लाख रुपये से अधिक बताई जाती है। गैंग के सरगना विवेक पाल उर्फ टाइगर समेत छह को गिरफ्तार किया गया है। फर्जी आरसी तैयार कर वाहनों को ग्रामीण इलाकों और दूसरे जनपदों में बेचा जाता था।

फर्जी कागजात के जरिए बेचते थे चोरी की बाइक

सिविल लाइंस और कर्नलगंज क्षेत्र में बाइक चोरी के कई मामले सामने आने के बाद दोनों थाने की पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई। शनिवार को पुलिस को पता चला कि बाइकों को टाइगर गैंग उड़ा रहा है। देर रात सिविल लाइंस इंस्पेक्टर वीरेंद्र यादव और कर्नलगंज थाना प्रभारी गोविंद सिंह ने गैंग के सरगना विवेक पाल उर्फ टाइगर को पकड़ लिया। उससे पूछताछ के बाद पांच और बदमाशों को गिरफ्तार करते हुए इनकी निशानदेही पर 24 चोरी की बाइकों को विभिन्न स्थानों से बरामद किया गया। एसएसपी अजय कुमार ने बताया कि सिविल लाइंस, कर्नलगंज, कीडगंज समेत कई इलाकों से वाहनों को चोरी किया गया था। विवेक पाल और मनीष बाइकों को चोरी करते थे, जबकि गैंग के अन्य गुर्गे इसे बेचते थे। 80-90 हजार की बाइक को 25-30 हजार में बेचा जाता था। इनके पास से लैपटाप, प्रिंटर, फर्जी वाहनों के कागजात, फर्जी आधारकार्ड आदि बरामद हुआ है। एसएसपी ने सिविल लाइंस और कर्नलगंज पुलिस को 25-25 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

बीएससी कर रहा विवेक है फर्जी कागजात तैयार करने में माहिर

गैंग का सरगना विवेक पाल उर्फ टाइगर बीएससी कर रहा है। चोरी के वाहनों को बेचने के लिए पिक्सेल लैब नामक एंड्रवायड एप के माध्यम से वह फर्जी आरसी बनाता था। लैपटाप में फर्जी कागजात तैयार कर उसे प्रिंटर से निकाल लेता था।

ये हुए गिरफ्तार

-विवेक पाल उर्फ टाइगर निवासी पयागपुर थाना मांडा

-इंद्र बहादुर पाल निवासी सिंकी खुर्द थाना मेजा

-विजय बिंद निवासी सिंकी खुर्द थाना मेजा

-अर्जुन सिंह निवासी तरांव थाना कोरांव

-मनीष कुमार निवासी आइटीआइ गेट नैनी थाना औद्योगिक क्षेत्र

-धर्मेंद्र कुमार निवासी बरहा कला थाना मांडा

Edited By: Ankur Tripathi