प्रयागराज, जागरण संवाददाता। महाकुंभ-2025 के पहले सेटेलाइट बस अड्डा बनाया जाएगा। नैनी, फाफामऊ और झूंसी में एक-एक बस अड्डा बनाया जाएगा। सेटेलाइट बस अड्डे एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाए जाएंगे। प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने उसकी प्रक्रिया शुरू कर दिया है। पीडीए के अधिकारियों का कहना है कि इन्हें लखनऊ के आलमबाग बस अड्डा की तर्ज पर बनाया जाएगा।

तीन-तीन एकड़ में बनेगा बस स्टेशन

झूंसी, नैनी और फाफामऊ में दो से तीन एकड़ में बस अड्डा बनाया जाएगा। फाफामऊ के बस अड्डा में अयोध्या, प्रतापगढ़, लखनऊ आदि क्षेत्र के बसों की पार्किंग होगी। गोरखपुर,वाराणसी और मिर्जापुर की बसें झूंसी से मिलेंगी। नैनी बस अड्डे में मध्य प्रदेश, चित्रकूट आदि क्षेत्रों के लिए बसें मिलेंगी।

ये फेसिलिटी रहेगी बस अड्डे में

बस अड्डा में एसी वेटिंग हाल, पीने के लिए ठंडा पानी, बेंच, सबवे से प्लेटफार्म रूट, फूडकोर्ट, पोस्ट आफिस, एलइडी डिस्प्ले बोर्ड, मार्डन टायलेट, एटीएम, लगेज चेकिंग स्कैनर, आटोमैटिक एनाउंसमेंट और बस प्लेटफार्म के साथ एसी मार्डन टर्मिनल जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। साथ ही पूरा बस अड्डा सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगा।

15 से 20 करोड़ रुपये शुरू में होगा खर्च

सेटेलाइट बस अड्डा बनाने के लिए 15 से 20 करोड़ रुपये शुरुआत में खर्च किया जाएगा। इसके बाद सुविधाओं के अनुसार बजट उपलब्ध कराया जाएगा। इसके निर्माण में पीडीए के साथ परिवहन निगम का भी सहयोग रहेगा।

सचिव पीडीए ने यह बताया

स्मार्ट सिटी में सेटेलाइट बस अड्डा बनाने के लिए जमीन देख ली गई है। फाफामऊ और नैनी में एक साथ निर्माण शुरू होगा। इसका मानचित्र जल्द ही तैयार किया जाएगा।

-अजीत सिंह, सचिव पीडीए

Edited By: Ankur Tripathi