प्रयागराज, जेएनएन। जनपद में कोरोना वायरस का जबरजस्‍त प्रकोप फैल चुका है। जहां एक ओर संक्रमित मरीजों की संख्‍या बढ़़ती जा रही है, वहीं मौतों की भी संख्‍या लगातार बढ़ ही रही है। अभी रविवार की रात तक दो मरीजों ने दम तोड़ दिया था, वहीं सोमवार की दोपहर तक तीन और संक्रमितों की मौत हुई। आज जिनकी मौत हुई उनमें पूर्व आइजी भी शामिल हैं। उनके साथ अन्‍य दो संक्रमित मरीजों का स्‍वरूपरानी नेहरू (एसआरएन) अस्‍पताल में इलाज चल रहा था।

पूर्व आइजी को निजी से एसआरएन अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था

कोविड-19 अस्‍पताल एसआरएन में सोमवार को तीन कोरोना वायरस से संक्रमितों की मौत हो गई है। इसमें रिटायर्ड आइजी भी शामिल हैं। वह शहर के एक निजी अस्‍पताल में भर्ती थे। वहां जांच के बाद उनकी रिपोर्ट 10 जुलाई को पाॅजिटिव आई थी। उसके बाद उन्हें कोविड-19 अस्पताल एसआरएन में भर्ती कराया गया था। रविवार की देर रात करीब एक बजे उनकी मौत हो गई। हालांकि इसकी जानकारी सोमवार को मिल सकी।

लालापुर की रहने वाली वृद्धा सीओपीडी बीमारी से पीडि़त थीं

एसआरएन के डॉक्टर के मुताबिक पूर्व आइजी डाइबिटीज, ब्लड प्रेशर व हार्ट के मरीज भी थे। इसी तरह दूसरी मौत लालापुर थाना क्षेत्र की रहने वाली 60 वर्षीय वृद्धा की हुई। कोरोना वायरस की जांच में वह 11 जुलाई को पाॅजिटिव आईं थी। सोमवार की सुबह करीब चार बजे उनकी मौत हो गई। वृद्धा सीओपीडी की बीमारी से भी पीड़ित थीं।

प्रतापगढ़ की वृद्धा ने एसआरएन अस्‍पताल में दम तोड़ा

इसी क्रम में कोरोना वायरस से संक्रमित तीसरी मौत प्रतापगढ़ जनपद के कुंडा अंतर्गत बरई गांव की निवासी 72 वर्षीय वृद्धा की हुई। वह नौ जुलाई को कोविड-19 अस्‍पताल एसआरएन में उन्‍हें भर्ती कराया गया था। सोमवार की सुबह करीब 11 बजे उनकी मौत हो गई। मौत की पुष्टि एसआरएन के नोडल डॉ सुजीत वर्मा ने की है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस