प्रयागराज, जेएनएन। घर से निकलने के बाद सड़क दुर्घटनाओं का खतरा हमेशा बना रहता है और जरा सी चूक घातक साबित होती है। सोमवार आधी रात हुए दो अलग हादसों में चार युवक जख्मी हुए जिनमें तीन की जान चली गई जबकि चौथा अस्पताल में भर्ती है। ये दुखद हादसे कौशांबी और प्रयागराज में हुए। एक युवक घायल है।

पहला हादसा पिपरी के रावतपुर मोड़ पर

पहला जानलेवा हादसा पड़ोसी जिले कौशांबी में पिपरी क्षेत्र के कटहुला गांव के पास हुआ जहां दो युवक बाइक पर जाते वक्त किसी गाड़ी की चपेट में आकर जख्मी हुए और अस्पताल में उनकी सांस थम गई। पिपरी के गौसपुर कटहुला गांव निवासी प्रेमलाल पाल खेती करते हैं। उनका 18 वर्षीय बेटा देवा पाल शादी विवाह जैसे समारोहों में खाना बनाने का काम करता था। सोमवार को वह गांव के श्रमिक गुड्डू शर्मा के 20 वर्षीय बेटे पंकज शर्मा को साथ लेकर असरावल गांव में एक तेरहवीं भोज में खाना बनाने के लिए गया था। वहां पर काम निपटाने के लिए दोनों बाइक पर घर के लिए निकले थे। बाइक को देवा चला रहा था। आधी रात करीब 12 बजे वे दोनों पिपरी थाना के रावतपुर मोड़ के समीप पहुंचे तभी किसी गाड़ी ने तेज रफ्तार में टक्कर मार दी। राहगीरों से मिली जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने घायलों को रावतपुर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर इलाज के दौरान दोनों ने दम तोड़ दिया। इस आकस्मिक घटना से परिवार में कोहराम मचा है। बदहवास हालत में परिवार के लोग भी अस्पताल आ गए। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

डिवाइडर से टकराई बाइक, एक युवक की मौत

औद्योगिक क्षेत्र के नेवादा समोगर गांव के समीप डिवाइडर से टकराकर बाइक सवार दो युवक सोमवार की देर रात गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घायलों को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनमें से एक युवक की मौत हो गई। औद्योगिक क्षेत्र के महुआरी गांव निवासी समीर पुत्र मदन और सोनू पुत्र अर्जुन सोमवार शाम किसी काम से शहर की ओर गए थे। देर रात लौटते समय नेवादा समोगर गांव के समीप उनकी बाइक डिवाइडर से टकरा गई, जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान 30 साल के समीर की मौत हो गई।

Edited By: Ankur Tripathi