प्रयागराज, जेएनएन। आजकल डेंगू बुखार तेजी से फैल गया है। प्रयागराज मेें इसके प्रसार की रफ्तार दाे गुुनी गति से बढ़ी है। ऐसे में मरीज के शरीर में घटते प्लेटलेट्स की पूर्ति के लिए ब्लड बैंकों में मांग ज्यादा हो गई है और आपूर्ति कम है। इस कठिन घड़ी में चिकित्सकों की सलाह है कि मरीज घर में ही उपलब्ध कुछ जरूरी तत्वों का इस्तेमाल कर राहत पा सकते हैं। हालांकि देसी उपचार में भी किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूरी है ताकि बीमारी में उसका फायदा पहुंचे।

डेंगू बुखार के मरीज नारियल पानी पिएं

आयुर्वेदिक एवं यूनानी पद्धति के क्षेत्रीय अधिकारी डा. शारदा प्रसाद कहते हैं कि डेंगू बुखार के मरीज नारियल पानी पिएं। इसमें मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलता है। तुलसी और मेथी की पत्तियां भी लाभदायक हैं। इन्हें पानी में उबाल कर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। मेथी की पत्तियां शरीर से विकार को निकालती हैं जिससे आराम मिलता है। प्लेटलेट्स यदि घट रही है तो पपीते के पत्ते ज्यादा असरदार हो जाते हैं। पपीते के पत्ते में पपेन नामक तत्व मिलते हैं जो शरीर की पाचन शक्ति को बढ़ाते हैं। इसका जूस पीने से प्लेटलेट्स बढ़ती है। 

यह मिश्रण बनाता है एंटी बैक्टीरियल

घर में तुलसी की पत्तियां आसानी से मिल जाती हैं। इन्हें काली मिर्च के साथ पानी में उबाल कर पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। साथ ही यह मिश्रण एंटी बैक्टीरियल भी होता है। चिकित्सक कहते हैं कि तुलसी और काली मिर्च डालकर उबला हुआ पानी डेंगू पीड़ित मरीज को दिन में दो से तीन बार पीना चाहिए।

बच्चों की सुरक्षा करे नीम

नीम की पत्तियां पानी में उबाल कर इसका काढ़ा बच्चों को पिलाएं। क्योंकि नीम की पत्तियां ब्लड काउंट और सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाती है। आजकल बच्चों को भी डेंगू हो रहा है। प्रयागराज के चिल्ड्रेन अस्पताल में पिछले महीने से अब तक पांच बच्चे भर्ती कराए जा चुके हैं। हालांकि यह सभी स्वस्थ हो गए हैं। लेकिन डेंगू के दौर में बच्चों का ख्याल रखना जरूरी है।

Edited By: Ankur Tripathi