प्रयागराज, जेएनएन। जमाना कितना भी मार्डन होता जा रहा हो लेकिन समाज में अंधविश्वास अब भी गहरे तक बना है। कभी नर बली की घटना सामने आती है तो कभी प्रेत बाधा हटाने के नाम पर ढोंगी तांत्रिकों द्वारा महिलाओं के यौन शोषण का मामला पुलिस के पास पहुंचता है। दुनिया भर में कुंभ मेला की वजह से विख्यात संगम पर भी अंधविश्वास का खेल लंबे समय से जारी है। ताजा मामला झाड़फूंक के दौरान एक युवती को पीटने का है जिसकी तस्वीर वायरल होने पर पुलिस तांत्रिक की तलाश में लगी है।

रविवार को गंगा दशहरा के दिन का वाकया

गंगा दशहरा के दिन संगम पर झाडफ़ूंक के नाम पर युवती की पिटाई करने और जबरन डुबकी लगाने के आरोपित कथित तांत्रिक को पकड़ने के लिए पुलिस एक्शन में है। सोमवार और फिर मंगलवार सुबह भी दारागंज थाने की पुलिस ने संगम नोज के आसपास मौजूद लोगों, पंडों और नाविकों से पूछताछ की। साथ ही इंटरनेट मीडिया पर वायरल तस्वीर के आधार पर जानकारी जुटाने का प्रयास किया गया। हालांकि अभी तक आरोपित की सही पहचान नहीं हो सकी है। इंस्पेक्टर दारागंज जय प्रकाश शाही का कहना है कि छानबीन में पता चला है कि अभियुक्त मध्य प्रदेश का रहने वाला है मगर इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है। कोशिश तो यही है कि ऐसे ढोंगी तांत्रिक को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाए। मध्य प्रदेश से आए एक परिवार की युवती को झाडफ़ूंक के नाम पर पीटने व डुबकी लगाने का मामला सामने आया था, जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस लिखा था।

वकील का एफबी एकाउंट हैक कर मांगी रकम

साइबर शातिरों ने अधिवक्ता अभिषेक श्रीवास्तव का फेसबुक एकाउंट हैक कर उनके परिचितों से रकम मांगी। इसकी जानकारी होने पर उन्होंने सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पीड़ित का आरोप है कि शातिर ने उनका एकाउंट हैक किया और फिर उनके ही नाम से दूसरा एकाउंट बनाकर तस्वीर लगाई। इसके बाद फेसबुक फ्रेंड से पैसे मांगे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Edited By: Ankur Tripathi