प्रयागराज : झूंसी के मल्लाही टोला में रवि और उसके भतीजे बासू की हत्या कर शव जलाने के मामले में क्षेत्र में तनाव कायम रहा। इतना तो साफ हो गया है कि दोहरा हत्याकांड दो गुटों के बीच वर्चस्व की जंग का नतीजा रहा। करीब दो साल से पूर्व पार्षद विष्णु निषाद और रवि निषाद के गुटों के बीच मारपीट, हमला चल रहा था। रवि के साथ दारागंजी गुट जुड़ गया था। ऐसे में वह भतीजे बासू के साथ दबंगई करने लगा था। सोमवार की रात भी रवि और बासू तमंचा लेकर विष्णु की दुकान पर पहुंचे थे। वहां मारपीट, फाय¨रग के बाद दोनों की हत्या कर दी गई।

मल्लाही टोला और कलवारी टोला के युवकों के बीच वर्चस्व की जंग दो साल पहले शुरू हुई थी। मल्लाही टोला में देवी जागरण में शामिल होने दारागंज का रहने वाला शातिर बदमाश संदीप पहुंचा था। पूर्व पार्षद विष्णु के साथ विकास निषाद से संदीप का झगड़ा हो गया था। विकास ने संदीप की गाड़ी तोड़ दी थी। इसके बाद संदीप ने कलवारी टोला के रवि निषाद से दोस्ती गांठी। रवि और बासू को विकास, विष्णु के खिलाफ खड़ा। रवि और बासू की मदद के लिए दारागंज के तमाम युवक पहुंचने लगे। चाचा भतीजे संदीप के लिए काम करने लगे। दो महीना पहले इस गुट ने विकास की घेराबंदी की थी। इस पर विष्णु निषाद का रवि से विवाद हुआ था। रवि ने विष्णु पर तमंचा भी तान दिया था। एसएसपी नितिन तिवारी के मुताबिक, जो कहानी सामने आ रही है वह यह है कि रात में दुकान पर बैठे विष्णु को लक्ष्य कर रवि ने फायर किया। गोली विष्णु को न लगकर दीवार में लगी। दूसरा फायर मिस कर गया। इसके बाद विष्णु और उसके साथियों ने हमला कर हत्या कर दी।

------------

कई जगह छापामारी, रिश्तेदारों से पूछताछ

प्रयागराज : पूर्व पार्षद समेत अन्य आरोपितों की तलाश में मंगलवार को भी एसपी गंगापार सुनील सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीमों ने कई जगह छापामारी की। दारागंज, करेलाबाग करेली की निषाद बस्ती, धूमनगंज और राजापुर में दबिश देकर पुलिस टीमों ने कई रिश्तेदारों को उठाया है। आरोपितों के करीबियों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

-----

रवि, बासू पर दर्ज हैं कई मामले

झूंसी : दोहरे हत्याकांड में मारे गए रवि निषाद का आपराधिक इतिहास है। झूंसी थाने में उसके विरुद्ध एक विदेशी महिला से छिनैती का मामला दर्ज है। इसी प्रकार दारागंज थाने में उसके खिलाफ हत्या के प्रयास व जान से मारने की धमकी के तीन मामले दर्ज हैं। बासू निषाद के खिलाफ झूंसी में एनडीपीएस का मामला दर्ज है। दूसरे थानों में दर्ज मामले भी खंगाले जा रहे हैं।

----

शव घर पहुंचते ही कोहराम

संसू, झूंसी : मारे गए रवि और बासू का शव मंगलवार की शाम एंबुलेंस से घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। परिजनों की चीखें गूंजने लगीं। तनाव को देखते हुए एसपी गंगापार सुनील सिंह कई थानों की फोर्स के साथ मौजूद रहे। इस दौरान झूंसी बाजार में काफी भीड़ जमा रही। शवों का अंतिम संस्कार झूंसी गंगाघाट पर किया गया। कच्ची शराब की बिक्री कराती है बवाल

झूंसी : कतवारी टोला, मल्लाही टोला और आसपास के इलाकों में कच्ची शराब की बिक्री की वजह से अक्सर बवाल होते रहते हैं। यहां अभी भी शराब की भट्ठियां चलती हैं। हजारों लीटर कच्ची शराब तैयार कर दूसरे इलाकों में भेजा जाता है।

Posted By: Jagran