प्रयागराज, जेएनएन। अब अस्‍पताल में भी अपराध होने लगे हैं। यहां भी महिलाएं और युवतियां सुरक्षित नहीं हैं। इसका नममूना स्वरूपरानी नेहरू (एसआरएन) चिकित्सालय में दिखा। अस्‍पताल में भर्ती एक महिला मरीज से छेड़खानी और विरोध करने पर उसके पिता से लूटपाट का मामला सामने आया है। कोतवाली थाने में सीताराम मिश्रा और चोटी वाले पंडितजी नामक एक शख्स और उसके तीन साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। अभियुक्त सुल्तानपुर जिले के सांगीपुर का रहने वाला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एसआरएन अस्पताल में भर्ती थी युवती

कर्नलगंज थाना क्षेत्र के चांदपुर सलोरी इलाके में रहने वाले एक शख्स हाईकोर्ट में अधिवक्ता हैं। उनकी 26 वर्षीय बेटी को पेट में इंफेक्शन था, जिसका इलाज चल रहा है। तीन दिन पहले वह एसआरएन अस्पताल के वार्ड नंबर 12 में एडमिट थी। आरोप है कि उसी वार्ड में भर्ती एक मरीज के तीमारदार सीताराम व चोटी वाले पंडितजी वहां मौजूद थे। उन्होंने छात्रा से अश्लील हरकत की और विरोध पर धमकी दी। शोर मचाने पर दूसरे तीमारदार आ गए और दोनों वहां से चले गए।

अधिवक्ता ने लगाता आरोप

अधिवक्ता का आरोप है कि घटना के बाद आई पुलिस ने मामले को समझाकर शांत करा दिया। रात में वह अपनी बेटी के साथ मौजूद थे, तभी अभियुक्तों ने उस पर हमला बोल दिया। गले से चेन, जेब से मोबाइल और 12 सौ रुपये भी लूट लिए।

कोतवाली इंस्पेक्टर बोले

इंस्पेक्टर कोतवाली बच्चे लाल प्रसाद का कहना है कि मामला मारपीट का है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। छेड़खानी और लूट की धारा एफआइआर से हटाई जा रही है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप