प्रयागराज, जेएनएन। मनोचिकित्सक डॉ. राकेश कुमार पासवान ने बताया कि कोई पढ़ाई तो कोई नौकरी को लेकर तनाव में है। इसमें युवाओं की संख्या सबसे अधिक है। यही कारण है कि युवाओं का ब्लड प्रेशर सामान्य से कहीं अधिक होता है। हर व्यक्ति को अपना ब्लड प्रेशर नंबर जानना जरूरी है। 

 जागरूकता संगोष्ठी में युवाओं को दी गई सलाह 

वल्र्ड हाइपरटेंशन-डे के मौके पर स्वास्थ्य शिविर व जागरूकता संगोष्ठी में युवाओं को तनावमुक्त रहने का संदेश दिया गया। सीएमओ ऑफिस में हाइपरटेंशन के प्रति जागरूकता लाने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल में मरीजों का ब्लड प्रेशर नापा गया और उन्हें नियमित ब्लड प्रेशर की जांच कराने की सलाह दी गई। 

हाई ब्लड प्रेशर सेहत के लिए है खतरनाक 

रामहर्षण चिकित्सालय झूंसी में विश्व आयुर्वेद मिशन की ओर से हाइपरटेंशन से बचाव व उपचार विषय पर संगोष्ठी आयोजित हुई। मिशन के अध्यक्ष डॉ. जीएस तोमर ने कहा कि आधुनिकता की दौड़ में भागता मनुष्य पाश्चात्य संस्कृति का अंधानुकरण कर रहा है, जिससे नई-नई घातक बीमारियां बढ़ रही है। हाई ब्लड प्रेशर मस्तिष्क की नाजुक रक्तवाहनियों से रक्तस्राव होकर लकवा जैसी गंभीर अवस्था उत्पन्न करती है। संगोष्ठी में डॉ. आरके सिंह, डॉ.जीके सिंह, डॉ. डीपी आर्य आदि मौजूद रहे।

तनावमुक्त रहने के लिए करें योग

101 वाहिनी द्रुत कार्य बल के प्रांगण में तनाव प्रबंधन के विषय पर कार्यशाला आयोजित हुई। रीजनल सीआरपीएफ फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से आयोजित कार्यशाला में डॉ. उमाशंकर वर्मा ने हाइपरटेंशन के कारण और उससे बचाव के बारे में जागरूक किया। सेवानिवृत्त कर्नल महाबली व उनके सहयोगियों ने आरएएफ के जवानों तथा उनके परिवारजनों को तनाव से मुक्त रहने के लिए नियमित योग करने की सलाह दी। क्षेत्रीय अध्यक्ष सुनीता निगम ने सभी का आह्वान करते हुए कहा कि वह अपनी परेशानियों को एक दूसरे से साझा करें तो वह तनाव से मुक्त रह सकते हैं। कमांडेंट आरके निगम ने आभार जताया।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप