प्रयागराज, जेएनएन। सेना में भर्ती कराने वाले रैकेट का एसटीएफ और मिलिट्री इंटेलिजेंस ने राजफाश किया है। इस मामले में दो फौजी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़े गए लोगों से अभ्यर्थियों के शैक्षणिक दस्तावेज, मोबाइल फोन, नगदी, व्हाट्सएप चैट को बतौर सुबूत जब्त किया गया है। ये लोग अमेठी में चल रही सेना भर्ती के सिलसिले में प्रयागराज में सेंट जोसेफ स्कूल के पास मिलने आए थे। इसी दौरान उन्हें दबोचा गया। उनसे पूछताछ की जा रही है।

सेंट जोसेफ स्कूल के पास से गिरफ्तार हुई

एसटीएफ और मिलिट्री इंटेलिजेंस ने जाल बुनकर रैकेट के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ को पता चला कि अमेठी में चल रही भर्ती के सिलसिले में सेंट जोसेफ स्कूल के पास मिलने वाले हैं। इस पर जब वह वहां पहुंचे तो गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ ने रविवार की रात में करीब पौने तीन बजे कराया सिविल लाइंस थाने में चारों गिरफ्तार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

प्रदीप सिंह व संजय पांडेय फौज में है

पकड़े गए लोगों में दो गाजीपुर में नोनहरा का प्रदीप सिंह और कुशीनगर का संजय पांडेय फौज में हैं। कुशीनगर का ही मनीष भी पकड़ा गया है, जिसका फुफेरा भाई अजय यादव सेना में जोधपुर राजस्थान में तैनात है। वह कौशांबी जनपद के सैनी थाना क्षेत्र का रहने वाला है। वहीं चौथा अभियुक्त त्रिपति नाथ सरोज जौनपुर का रहने वाला है।

शैक्षणिक दस्तावेज, मोबाइल, नकदी आदि बरामद

एसटीएफ ने पकड़े गए चारों आरोपितों के पास से काफी कुछ बरामद किए। उनके पास से अभ्यर्थियों के शैक्षणिक दस्तावेज, मोबाइल फोन, नगदी बरामद की गई है। इसके साथ ही व्हाट्सएप चैट को बतौर सुबूत जब्त किया गया है। केस दर्ज कराने के बाद आरोपितों से एसटीएफ पूछताछ कर रही है।

लखनऊ जोनल रिक्रूटमेंट ऑफिस में  सेटिंग से अजय चतुर्थ श्रेणी के पदों पर भर्ती कराता था

एसटीएफ की मानें तो अजय ही लखनऊ स्थित जोनल रिक्रूटमेंट ऑफिस में अपनी सेटिंग से चतुर्थ श्रेणी के पदों पर भर्ती कराता रहा है। एक भर्ती के लिए तीन लाख रुपये तक अभ्यर्थियों से लिए जाते थे। अब फौजी अजय के साथ ही रिक्रूटमेंट ऑफिस लखनऊ के बाबू की गिरफ्तारी होनी है।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस