प्रयागराज, जेएनएन। मुट्ठीगंज थाना क्षेत्र के बलुआघाट में बुधवार को रजाई-गद्दे की दुकान में संदिग्ध हाल में आग लग गई। आग लगी तो वहां रखा रसोई गैस के दो सिलेंडरों में भी विस्फोट हो गया। इससे आग और भी भयावह हो गई। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि घर की दीवार क्रेक हो गई और घर की खिड़कियों में लगे शीशे टूट गए। आग बुझाने के दौरान कारोबारी ओमप्रकाश का 28 वर्षीय बेटा बृजेश झुलस गया। पुलिस और फायर बिग्रेड की टीम जब तक आग बुझाती, लाखों रुपये का नुकसान हो चुका था। फिलहाल आग कैसे लगी, इसका पता नहीं चल सका है।

आग ने पूरे मकान को अपनी चपेट में ले लिया

मुट्ठीगंज थाना क्षेत्र के तिलक रोड पर ओम प्रकाश का मकान है। ऊपरी तल पर वह परिवार के साथ रहते हैं। और नीचे तल पर रजाई, गद्दा और रुई की दुकान है। कहा जा रहा है कि अचानक रजाई वाले कमरे में आग लग गई। धुआं देख आसपास के लोगों को जानकारी हुई तो शोर मचाया। आग की लपटें उठने लगीं तो कारोबारी समेत पूरा परिवार घर छोड़कर बाहर आ गया। खबर पाकर मुट्ठीगंज पुलिस और फायर बिग्रेड की टीम मौके पर पहुंची। देखते ही देखते आग ने पूरे मकान को अपनी चपेट में ले लिया।

दुकान में गैस रिफलिंग की बात कही जा रही

जानकारी होने पर फायर ब्रिगेड भी पहुंच गया। दमकल कर्मी आग बुझाने की कोशिश ही कर रहे थे कि अचानक एक सिलेंडर फट गया। इससे वह बैकफुट पर आ गए। इसके कुछ देर बाद ऊपर किचन में रखा दूसरा सिलेंडर भी फट गया। धमाके की आवाज से आसपास के लोग दहशत में आ गए। कारोबारी के मकान की दीवारें भी दरक गईं और पड़ोसियों के मकान की खिड़की में लगे शीशे टूट गए। काफी मशक्कत के बाद अग्निशमन कर्मियों ने किसी तरह आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक काफी नुकसान हो चुका था। हालांकि मुहल्ले के कुछ लोग यह भी चर्चा कर रहे थे उनकी दुकान में गैस रिफलिंग का काम होता था।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी बोले

फिलहाल मुख्य अग्निशमन अधिकारी रविंद्र शंकर मिश्रा का कहना है कि आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस