प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस का खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है। इस संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सतर्कता बेहद जरूरी है। प्रयागराज मंडल के जंक्शन पर तैनात आरपीएफ के जवान भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में बचाव के लिए उन्हें सतर्क रहने को कहा गया है। अपनी सुरक्षा के साथ ड्यूटी करने की सलाह दी गई है।  आरपीएफ के छह जवानों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी, जो अभी होम आइसोलेट हैं। डॉक्टरों की सलाह पर एहतियात बरत रहे हैं। आरपीएफ के जवानों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा किट उपलब्ध कराई गई।

ट्रेनों में आने वाले कोरोना मरीजों से संक्रमित हो रहे आरपीएफ जवान

दरअसल, मुंबई और दिल्ली समेत महानगरों से आने वाली ट्रेनों में यात्री बगैर जांच कराए सफर कर रहे हैं। ऐसे में संक्रमित यात्रियों की पहचान नहीं हो पाती है। वही आरपीएफ के जवान सुरक्षा व्यवस्था में मुस्तैद हैं। कई बार वे भी संक्रमण की चपेट में आ जाते हैं। हालांकि इनमें कुछ स्वस्थ होकर ड्यूटी भी ज्वाइन कर रहे हैं। अब तक चार जवान ठीक होकर लौट आए हैं और अपना फर्ज निभा रहे हैं। ड्यूटी के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए आरपीएफ के जवानों को सुरक्षा किट बांटी गई। इसमें फेस शील्ड, मास्क, सैनिटाइजर आदि शामिल हैं।

सीसीटीवी से लापरवाही बरतने वालों की निगरानी

कोरोना संक्रमण काल में यात्रा के दौरान लापरवाही करने वालों पर आरपीएफ की पैनी नजर है। सीसीटीवी से भी उनकी निगरानी की जा रही है। मास्क नहीं लगाने वालों पर 500 रुपए जुर्माने का प्रावधान है। हालांकि अभी तक किसी पर जुर्माना नहीं लगाया गया है। सख्त हिदायत जरूर दी जा रही है। प्रयागराज जंक्शन के आरपीएफ प्रभारी बीपी सिंह का कहना है कि सतर्कता बरती जा रही है। मास्क नहीं पहने वाले यात्रियों को चेतावनी भी दी जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप