प्रयागराज, जेएनएन। गुरुवार से शुरू हुई बारिश का क्रम शुक्रवार दोपहर तक बदस्‍तूर जारी रहा। कभी झमाझम तो कभी रिमझिम फुहार। यही क्रम पिछले गुरुवार से जारी है। आसमान पर घने बादलों के कारण दिन में भी अंधेरा छाया हुआ है। पिछले दस घंटे में 80.8 मिमी रिकार्ड की गई। यानी शुक्रवार की सुबह आठ बजे से शाम छह बजे तक इतनी बारिश हुई है। वहीं गुरुवार की सुबह आठ बजे से शुक्रवार की सुबह आठ बजे तक जिले में 31.8 मिमी बारिश हो चुकी थी। बारिश बंद होने की अभी फिलहाल कोई संभावना नजर नहीं आ रही है। जिले में लगातार हो रही रिकार्ड बारिश ने ने जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त कर दिया है।

दोपहर तक बारिश की बूंदों का क्रम नहीं टूटा

सुबह सोकर लोग उठे तो झमाझम बारिश शुरू थी। शुक्रवार दोपहर तक बारिश लगातार जारी रहा। लगातार बारिश ने जनपदवासियों के समक्ष समस्‍या उत्‍पन्‍न कर दी है। आलम यह है कि घरों से लोग बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। वहीं आवश्‍यक कार्य से निकले लोग बरसाती, रेनकोट पहन कर ही बाहर निकले। कई तो छाता लेकर निकले, हालांकि वह भी उन्‍हें बारिश से नहीं बचा सका।

विदाई की बेला में गरजे बदरा, बरसे झमाझम

मानसून विदाई की बेला में है। जाने से पहले बादल कोई कोर कसर नहीं छोडऩा चाह रहे हैं। दो दिन से आसमान पर बादलों का कब्जा है। बुधवार पूरी रात बरसने के बाद गुरुवार दिन भी में झमाझम बारिश का दौर जारी रहा। यही क्रम शुक्रवार की दोपहर तक बना रहा। मौसम के इस रुख से रात में गुलाबी ठंड का अहसास होने लगा है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो यह बारिश मानसूनी की विदाई का अहसास करा रही है। फिलहाल शनिवार दोपहर तक मौसम का यही हाल रहने की उम्मीद जताई गई है।  आने वाले दिनों में रात में गुलाबी ठंड का अहसास होने लगेगा।

पानी-पानी हुआ शहर, मुश्किल बढ़ी

24 घंटे से हो रही बारिश से शहर में हर तरफ जलभराव हो गया है। निरंजन पुल के नीचे, सिविल लाइंस, प्रधान डाकघर, राजापुर के निचले इलाकों, मुठ्ठीगंज और हिम्मतगंज में जगह-जगह सड़क पर पानी भर गया है। सबसे ज्यादा दिक्कत नए यमुना पुल के समीप है। यहां सीवर का काम चल रहा है। बारिश होते ही स्थित नारकीय हो गई है।

बेपटरी हुई बिजली व्यवस्था

बारिश के कारण विद्युत आपूर्ति व्यवस्था पटरी से उतर गई है। कई इलाकों में तो घंटों कटौती हुई। करैलाबाग और बमरौली के केंद्रांचल कालोनी में ट्रांसफार्मर फुंकने से दिन भर आपूर्ति प्रभावित हुई।  करैलाबाग, करेली, अटाला, चौक, खुल्दाबाद, शाहगंज, जानसेनगंज, स्टेशन रोड आदि इलाकों में गुरुवार को आपूर्ति ठप हो गई। यही हाल शुक्रवार को भी रहा। कई बार इन मोहल्लों में बिजली कटौती हुई। रात तक यह सिलसिला जारी रहा। करैलाबाग में 400 केवीए का ट्रांसफार्मर गुरुवार को फुंक गया, जिसके कारण संबंधित मोहल्ले की आपूर्ति ठप रही। इसी तरह कसारी-मसारी, दारागंज, अल्लापुर, तेलियरगंज, बेली, जार्जटाउन, रामबाग, मुट्ठीगंज, कीडगंज इलाके में भी कटौती हुई। राजापुर, सिविल लाइंस, अशोक नगर, बैरहना, सोहबतियाबाग, अलोपीबाग में भी दोपहर और शाम को कटौती हुई। कटरा में बिजली के तार पर पुराना पेड़ गिरने से क्षेत्र में बिजली गुल हो गई।

बाढग़्रस्त कई मोहल्लों में अभी आपूर्ति बहाल नहीं

बाढग़्रस्त दारागंज में सब्जी मंडी मार्ग, संकटमोचन मंदिर मार्ग स्थित बस्तियों की आपूर्ति अभी बहाल नहीं हो सकी है। बघाड़ा, गंगानगर, ओमनगर, नेवादा कछार, मऊ सरैया में भी कई बस्तियों की आपूर्ति आपूर्ति सुचारू नहीं हो सकी थी। अधीक्षण अभियंता आरके सिंह ने बताया कि जिन इलाकों में पानी भरा है वहां अभी आपूर्ति नहीं बहाल कराई जा सकती।

 

स्‍कूली बच्‍चों की फजीहत

लगातार बारिश हो रही है लेकिन शुक्रवार को सभी स्‍कूल और कॉलेज खुले रहे। कई बच्‍चों को पानी में भीगकर स्‍कूल जाना पड़ा तो कई को बसों आदि वाहनों का इंतजार करना पड़ा। हालांकि अन्‍य दिनों की अपेक्षा स्‍कूल और कॉलेजों में बच्‍चों की उप‍स्थिति कम ही रही। प्रशासन की ओर से स्‍कूल बंद करने का और न ही स्‍कूल-कॉलेजों की ओर से ही सूचना अभिभावकों को मिली थी।

 

बाजार में दुकानों के शटर नहीं खुले

लगातार हो रही बारिश के कारण बाजारों में सन्‍नाटा पसरा रहा। दुकानों के शटर नहीं खुले। चौक, घंटाघर, कोठापारचा, कटरा, सिविल लाइंस, कीडगंज, बैरहना, मीरापुर आदि इलाकों में यही हाल दिखा। घरों पर बैठे दुकानदार बारिश बंद होने का इंतजार करते रहे। वहीं बारिश के कारण लोग भी घरों में कैद रहने पर विवश रहे।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप