प्रयागराज, जागरण संवाददाता। मौजूदा वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में उत्तर मध्य रेलवे को टिकट जांच के माध्यम से बिना टिकट यात्रा करते पकड़े गए लोगों से 51.66 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। जिसमें प्रयागराज मंडल काे 28.37 करोड़, झांसी व आगरा मंडल ने क्रमश: 13.07 और 10.22 करोड़ को राजस्व मिला।

प्रयागराज मंडल को टिकट जांच में मिले 28़ 37 करोड़

कोरोना महामारी के बाद अर्थव्यवस्था में सुधार होने से सभी गतिविधियों में तेजी आई है और सरकार के राजस्व में वृद्धि हुई है। ट्रेन में चल टिकट परीक्षकों (टीटीई) द्वारा नियमित टिकट जांच सर्वाधिक की जाती है। बिना टिकट यात्रा को रोकने के उद्देश्य से एनसीआर द्वारा विभिन्न स्थानों पर नियमित अभियान चलाए जा रहे हैं। बिना टिकट वाले यात्रियों को दंडित किया जाता है और उन्हें जांच के दौरान उचित टिकट दिए जाते हैं। प्रयागराज मंडल ने केवल जून माह में टिकट जांच द्वारा 10.78 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त करके एक ख़ास मुकाम हासिल किया है। वहीं अलीगढ़ बेस द्वारा 40 हजार यात्रियों को बिना टिकट यात्रा करते पकड़ा गया। जिनसे बतौर पेनाल्टी 2.47 करोड़ का राजस्व वसूला गया।

मिर्जापुर, अलीगढ़, कानपुर, टूंडला आदि में कई जांच अभियान चलाए

सीपीआरओ डॉ. शिवम शर्मा ने बताया कि प्रयागराज मंडल के विभिन्न स्थानों और बोर्ड जैसे मिर्जापुर, अलीगढ़, कानपुर, टूंडला आदि में कई जांच अभियान चलाए गए हैं। टिकट जांच के अलावा, टिकट जांच अभियान के दौरान बिना बुक किए गए सामान की भी जांच की जाती है और गंदगी फैलाने वालों पर भी जुर्माना किया जाता है।

Edited By: Ankur Tripathi