प्रयागराज, जेएनएन। रेल राज्यमंत्री एवं संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार ) मनोज सिन्हा ने कहा कि आजादी के बाद रेलवे में जितना निवेश होना चाहिए था, उतना नहीं हुआ। मगर पिछले चार साल में रेलवे का सबसे अधिक विकास हुआ है। रेल राज्यमंत्री ने शनिवार को सूबेदारगंज स्टेशन पर नवनिर्मित स्टेशन भवन, द्वितीय प्रवेश, प्लेटफार्म संख्या-4 एवं अन्य यात्री सुविधाओं का बटन दबाकर उद्घाटन किया। इसके साथ ही भारतीय रेल के ब्रॉडगेज तंत्र के अंतिम मानवरहित समपार की समाप्ति की घोषणा की गई।

स्टेशन पर प्रेसवार्ता में रेल राज्यमंत्री ने कहा कि देश की पहली मेकइन इंडिया सेमी हाईस्पीड टी-18 (वंदे भारत एक्सप्रेस) के लिए रेलवे की सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंतजार है।  प्रयागराज से लखनऊ के बीच शताब्दी कब तक चलने के सवाल पर कहा कि इलाहाबाद जंक्शन से लखनऊ के बीच दोहरीकरण का काम पूरा होने पर ट्रेन को चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुंभ के मद्देनजर इलाहाबाद (प्रयागराज) के स्टेशनों का 700 करोड़ से कायाकल्प किया गया। उन्होंने रेलवे के ब्रॉडगेज तंत्र के अंतिम मानवरहित समपार (संख्या 28 सी) की समाप्ति के घोषणा की, जो इलाहाबाद मंडल के चुनार-चोपन रेलखंड में स्थित था। उसका एक फरवरी से मानवीकरण हो गया है। अब देश में कोई मानव रहित रेलवे क्रासिंग नहीं रह गई है। साथ ही कहा कि इलाहाबाद जंक्शन का नाम प्रयागराज करने की प्रक्रिया चल रही है। शीघ्र इसकी घोषणा होगी। इसके बाद रेल राज्य मंत्री दोपहर में 3.40 बजे इलाहाबाद सिटी स्टेशन से विभूति एक्सप्रेस से वाराणसी रवाना हो गए। 

जीवन बीमा के क्षेत्र में उतरेगा डाक विभाग : सिन्हा

कुंभ नगर पहुंचे केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बड़ा एलान किया है। कहा कि एलआइसी की तर्ज पर डाक विभाग भी अब जीवन बीमा के क्षेत्र में उतरेगा। डाक विभाग बैंकिंग के क्षेत्र में बेहतर परिणाम दे रहा है और आगे बीमा के क्षेत्र में भी अग्रणी रहेगा। मनोज सिन्हा ने कुंभ मेला क्षेत्र क मीडिया सेंटर में कुंभ मेले पर आधारित डाक टिकट और पुस्तक का विमोचन किया। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद थे। कार्यक्रम में मनोज सिन्हा ने कहा कि डाक विभाग को और सुविधाजनक बनाया जाएगा। अब डाक विभाग केवल चिट्ठियों को पहुंचाने का काम नहीं कर रहा, बल्कि बैंकिंग सेवा में भी अपने पांव जमा रहा है। जल्द ही डाक विभाग बीमा सेक्टर में भी हाथ आजमाएगा। भारतीय जीवन बीमा निगम की तरह डाक विभाग के जरिए भी बीमा कराया जा सकेगा। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस