विजय सक्सेना, कुंभनगर : दुनिया के सबसे बड़े मेले में पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोङ्क्षवद ने गुरुवार को लोगों को स्वच्छता की अलख जगाने का संदेश दिया। कहा कि यह सुखद संयोग है कि कुंभ के साथ महात्मा गांधी की 150वीं जयंती भी मनाई जा रही है। गांधीजी ने पूरे देश को स्वच्छता का संदेश दिया था। लोग इस कुंभ में स्वच्छता को आगे बढ़ाने का संकल्प लें।

 कुंभ का प्रथम स्नान पूर्ण होने के दो दिन बाद यहां पत्नी सविता कोङ्क्षवद व बेटी के साथ आए राष्ट्रपति रामनाथ कोङ्क्षवद संगम पर पूजा-अर्चना के बाद अरैल स्थित परमार्थ निकेतन आश्रम में गांधी पुनरुत्थान शिखर सम्मेलन में पहुंचे। बोले, गांधीजी ने स्वच्छता का संदेश देने के लिए हरिजन सेवा संघ का गठन किया था। वह देश की आजादी के लिए लड़ाई के साथ स्वच्छता के अभियान को भी प्राथमिकता देते थे। गांधीजी कहते थे कि स्वच्छता देखनी है तो लोगों के घरों के टॉयलेट में जाकर देखें। उनका मानना था कि स्वच्छता परिवार से जुड़ी होती है।

बोले, कुंभ आस्था का चुंबक है

राष्ट्रपति ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के बाद उन्हें कुंभ में शामिल होने का अवसर मिला। कुंभ मानवता के मिलन का स्थल है। कुंभ आस्था का चुंबक है, जो लोगों को अपनी ओर खींच लाता है। यही कुंभ को अनूठा बनाता है। इसके पहले वहां परमार्थ निकेतन में राष्ट्रपति ने पत्नी एवं बेटी के साथ वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच यज्ञशाला में आहुति दी और पूजन किया। वेदपाठी छात्रों ने वैदिक मंत्रोच्चारण और शंखनाद से स्वागत किया। 

गंगा स्वच्छता का बेहतर काम हुआ : स्वामी चिदानंद

परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद ने कहा कि वह 1965 से कुंभ में आ रहे हैं। इस बार गंगा स्वच्छता को काम बेहतर तरीके से हुआ है। हरिजन सेवा संघ के अध्यक्ष प्रो. शंकर सन्याल ने कहा कि कुंभ में गांधी के आदर्शों को लाना सराहनीय कार्य है। इस मौके पर राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जूना अखाड़ा के पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरि, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि, विभिन्न अखाड़ों के प्रतिनिधि, नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ ङ्क्षसह, पर्यटन मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी, न्यायमूॢत गिरधर मालवीय, न्यायमूॢत अरुण टंडन आदि मौजूद थे।

प्रदर्शनी का किया अवलोकन

परमार्थ निकेतन में राष्ट्रपति ने महात्मा गांधीजी एवं कस्तूरबा गांधी के चित्रों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने कुंभ मेले में मुफ्त पेयजल उपलब्ध करा रही 'पी लोÓ मशीन तथा टॉयलेट कैफे को भी शिविर में देखा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस