प्रयागराज, जागरण संवाददाता। तकरीबन दो साल पहले की बात है। जनपद में 12 घंटे के भीतर छह कत्ल से पुलिस के होश उड़ गए थे। तत्कालीन एसएसपी को सस्पेंड कर दिया गया था। दो थानेदारों पर भी गाज गिरी थी। अब ऐसा ही फिर हुआ है। जनपद में सात कत्ल हो चुके हैं पिछले चार दिन के भीतर। अचानक अपराध का ग्राफ चढ़ गया। गनीमत यह रही कि पुलिस ने तीन हत्याकांड का राजफाश कर दिया। इसमें करछना में हुई कारोबारी की हत्या सबसे अहम रही, जो अंधेरे में सुई खोजने की तरह थी। हालांकि, ताबड़तोड़ हत्याओं से पुलिस महकमे में भी बेचैनी बढ़ गई है।

तीन कत्ल का पुलिस ने किया राजफाश

आइए इन घटनाओं पर नजर डालते हैं। सबसे पहले सोमवार रात कौंधियारा के पंचायत पिपरावं उर्फ कठौली कंचनवा के मजरा जुगुल का पूरा में सोनू यादव को लाठी-डंडे से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने वाट्स एप स्टेटस पर आपत्तिजनक जातिसूचक गाना लगा लिया था। इस मामले का पुलिस ने राजफाश करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। सोमवार की देर शाम करछना के बरदहा गांव निवासी कारोबारी रामराज की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। स्वजनों द्वारा किसी पर संदेह न जताने के कारण पुलिस के लिए इस घटना का खुलासा करना मुश्किल भरा काम हो गया था। लेकिन कड़ी से कड़ी जोड़कर पुलिस आगे बढ़ी और मृतक के भांजे समेत चार को गिरफ्तार कर हत्याकांड का पर्दाफाश दिया। इसी प्रकार मंगलवार को मेजा के भईया गांव में सुशील कुमार पाल पुत्र लाल बहादुर पाल ने पत्नी से हुए विवाद को लेकर अपनी 21 दिन की बेटी शिवानी की गला दबाकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया था। बुधवार को सोरांव थाना क्षेत्र के मनी का पूरा में देवनारायण और उसकी पत्नी रंजना की धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी गई। इसका पर्दाफाश अभी तक पुलिस नहीं कर सकी है। दोहरे हत्याकांड से ग्रामीणों में दहशत है।

महिला की हत्या किसने की, अभी बना है यह राज

अभी पुलिस सोरांव में हुए दोहरे हत्याकांड की पड़ताल कर ही रही थी कि बुधवार देर रात खीरी के लालतारा में कुसुम पत्नी रमेश चौहान को धारदार हथियार से गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया गया। अभी पुलिस इसमें जांच कर रही है। कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। अब शुक्रवार को फाफामऊ इलाके के रूदापुर में जहांगीर अहमद की पत्नी 27 वर्षीय नाजिया की संदिग्ध हालात में शव चारपाई पर मिला। इसे गला घोंटकर कत्ल बताया गया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम होने पर वजह पता चलेगी। पुलिस अधिकारी लगातार हुए कत्ल से परेशान हैं और प्रार्थना कर रहे हैं कि अब कुछ दिन तक शांति बनी रहे वरना शासन स्तर से सख्ती हो सकती है। ये घटनाएं सुर्खियों में आने से शासन में बैठे आला अधिकारी भी जनपद की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

कत्ल हुए तो गिरफ्तारी भी, बोले आइजी

- जिले में हुई घटनाओं में से कौंधियारा, करछना और मेजा का राजफाश करते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। सोरांव के दोहरे हत्याकांड और खीरी में विवाहिता की हत्या के आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगी हैं। जल्द ही सफलता मिलेगी।

- केपी सिंह, आइजी

Edited By: Ankur Tripathi