राजकुमार श्रीवास्तव, प्रयागराज। कोरोना काल में लोग अपनी सेहत को लेकर बेहद सजग हुए हैं। इसके लिए वह हर जतन भी कर रहे हैं। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत भी शहरियों के स्वास्थ्य, पर्यावरण और यातायात व्यवस्था के लिए प्रबंध हो रहे हैं। लोगों की सुविधा के लिए बाइक शेयरिंग सिस्टम की शुरुआत भी की गई है। इसके लिए चार स्थानों पर बाइक शेयरिंग स्टेशन भी बनाए गए हैं, जहां लोगों को किराए पर साइकिलें मिलती हैं। किराए वाली साइकिल मौजूदा समय में करीब 1300 शहरी इस्तेमाल कर रहे हैं।

सदस्य बनने के लिए 300 रुपये फीस, शुरू के आधे घंटे साइकिल फ्री

बाइक शेयरिंग सिस्टम के लिए चार्टेड बाइक कंपनी का चयन हुआ है। बाइक शेयरिंग की शुरुआत दो अक्टूबर को हुई थी। कंपनी द्वारा चार स्थानों शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क के गेट नंबर एक और गेट नंबर तीन, सिविल लाइंस में सुभाष चौराहा एवं मिश्र भवन के समीप बाइक शेयरिंग स्टेशन बनाए गए। स्टेशनों से साइकिलें उन्हीं को किराए पर मिलती हैं, जो इसके सदस्य बने हैं। 20 दिनों में 1297 लोग सदस्य बन चुके हैं। इसमें हर आयु वर्ग के लोग शामिल हैं। सदस्य बनने के लिए तीन सौ रुपये फीस निर्धारित है।शुरू के आधे घंटे साइकिल मुफ्त (फ्री) रहती है। उसके बाद घंटे के हिसाब से किराया देना पड़ता है। लोगों की मदद के लिए सभी स्टेशनों पर वालेंटियर्स भी लगाए गए हैं। सभी साइकिलों में ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) लगे हैं, जिससे लोकेशन मालूम होती रहती है।

एप से होता है रजिस्ट्रेशन

सदस्य बनने के लिए चार्टेड बाइक एप को इंस्टाल करना होगा। तीन सौ रुपये आनलाइन भुगतान करके रजिस्ट्रेशन कराना होगा। एप के माध्यम से ही साइकिल लाक और अनलाक होती है, इसलिए सदस्य के पास एंड्रायड फोन होना भी जरूरी है।

कुल 75 स्टेशन बनेंगे

कुल 75 स्टेशन बनाए जाने हैं। पहले चरण में 30 और दूसरे चरण में 45 स्टेशन बनाए जाएंगे। फिलहाल सबसे बड़ा स्टेशन कंपनी बाग के गेट नंबर एक पर बना है। मिश्र भवन के समीप का स्टेशन सबसे छोटा है। सबसे बड़े स्टेशन पर 18 और सबसे छोटे स्टेशन पर 12 साइकिलें रखने की व्यवस्था है। हालांकि, दो-तीन साइकिलें कम रखी जाती हैं।

घंटे और किराया (रुपये में)

-एक से दो- 05

-दो से तीन-25

-तीन से चार-50

Edited By: Ankur Tripathi