प्रयागराज, जागरण संवाददाता: क्या आपको पता है कि डाकघर की सभी बचत योजनाओं में मोबाइल नंबर होना जरूरी कर दिया गया है? अगर नहीं तो यह जान लें कि बचत खातों में मोबाइल नंबर लिंक कराने की अंतिम तिथि भी 31 मार्च 2023 निर्धारित कर दी गई है। तर्क दिया गया है कि इससे डाकघर की बचत योजनाओं में जमा राशि और भी सुरक्षित रहेगी। 

डाकघर की बचत योजनाओं में बचत खाता, आरडी, टीडी, एमआइएस, पीपीएफ, सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम, सुकन्या समृद्धि योजना, एनएससी, केवीपी शामिल हैं। काफी समय पहले योजनाओं में शामिल अधिकांश लोगों का इसमें मोबाइल नंबर नहीं है, जिनके खातों में मोबाइल नंबर लिंक नहीं है, उन्हें डाकघरों में जाकर अपना केवाईसी अपडेट कराना होगा। इसके बाद अपने खातों को मोबाइल नंबर से लिंक कराना होगा। 

यह होगा फायदा

इससे बड़ा फायदा यह रहेगा कि उनके बजत खाते में जमा रुपये सुरक्षित रहेंगे। अगर कोई इसे निकालने की कोशिश करेगा तो डाकघर के कर्मचारी मोबाइल नंबर पर फोन कर जानकारी लेंगे। इससे धोखाधड़ी जैसे मामले नहीं होंगे। समय-समय पर खातों में हुए लेन-देन की जानकारी भी मैसेज के माध्यम से मिलती रहेगी। 

31 मार्च के बाद नहीं निकाल पाएंगे रुपये 

बचत योजनाओं में शामिल लोग अगर 31 मार्च तक अपने खातों में मोबाइल नंबर नहीं जुड़वाते हैं तो वह उक्त तिथि के बाद खातों से रुपये नहीं निकाल पाएंगे। यही नहीं, रुपये जमा करने पर भी रोक लगा दी जाएगी। ग्राहक अगर खाते को बंद कराना चाहेगा, तब भी कुछ नहीं होगा। 

इन्होंने कहा…

सीनियर पोस्ट मास्टर राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि डाकघर की बचत योजनाओं में मोबाइल नंबर अब अनिवार्य कर दिया गया है। जो बचत खाते पुराने हैं, उसमें अधिकांश में मोबाइल नंबर नहीं जुड़े हैं। इसलिए लोगों को चाहिए कि वह तत्काल अपना मोबाइल नंबर अपने खाते से जुड़वा लें। 

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट