प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज में संगम क्षेत्र में लगे माघ मेले में स्वास्थ्य विभाग ने इस बार चिकित्सा सेवाओं में सबसे अधिक एंबुलेंस की ताकत झोंक दी है। 108 नंबर एंबुलेंस का ऐसा नेटवर्क तैयार किया गया है कि कहीं से किसी श्रद्धालु के बीमार होने या कोरोना संदिग्ध होने की होने की सूचना मिलती है तो एंबुलेंस उसके पास दो से तीन मिनट में पहुंच जाएगी। दो दर्जन एंबुलेंस अभी तक मेला क्षेत्र में चल रही हैं और दो-दो एंबुलेंस दोनों बड़े अस्पतालों में हमेशा उपलब्ध रखी जा रही हैं।

कल्पवासियों के सेहत दुरुस्त रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयार

माघ मेला क्षेत्र चूंकि कोरोना काल में लगा है, इसलिए सबसे बड़ी जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग को मिली है। प्रत्येक दिन वहां करीब डेढ़ हजार लोगों की एंटीजन किट से कोरोना जांच की जा रही है, इसके लिए 20 मोबाइल वैन भी भ्रमण कर रही है। एंबुलेंस बड़ी तादाद मेें लगाने और उसका नेटवर्क मजबूत करने का मकसद यह है कि श्रद्धालुओं और एक माह के लिए तंबुओं में बसने आ रहे कल्पवासियों के सेहत दुरुस्त रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर पर उनके साथ खड़ा रहेगा।

संगम नोज पर रहेगी एंबुलेंस

संगम नोज पर दो एंबुलेंस चौबीसों घंटे उपलब्ध कराई गई हैं। एक एंबुलेंस यदि किसी मरीज को लेकर अस्पताल की ओर रवाना होती है तो दूसरी को संगम नोज पहुंचने का फौरन निर्देश कंट्रोल रूम से मिल जाता है।

श्रद्धालुओं की सेहत की सुरक्षा प्राथमिकता

माघ मेला त्रिवेणी अस्पताल के नोडल डॉ अनिल संथानी का कहना है कि अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाएं तो तैयार हैं लेकिन, कोरोना का खौफ भी है इसलिए श्रद्धालुओं की सेहत की सुरक्षा प्राथमिकता है। बताया कि एंबुलेंस सेवा को संगम से शहर तक जोड़ा गया है। कहीं किसी को दिक्कत होने की सूचना मिलती है तो एंबुलेंस दो से तीन मिनट में पहुंच रही है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021