प्रयागराज,जेएनएन। शाहगंज निवासी खुर्शीद की हत्या गोली मारकर की गई थी या धारदार हथियार से, इसका पता आज पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर पता चलेगा। उधर, पुलिस मोबाइल की कॉल हिस्ट्री और घरवालों के बयान के आधार पर संदिग्ध लोगों की तलाश कर रही है। पुलिस का दावा है कि खुर्शीद सड़क पर खून से लथपथ मिला था। मौके से किसी ने गोली की आवाज नहीं सुनी थी। ऐसे में मामला हत्या और हादसे के बीच उलझा हुआ है। हालांकि घरवालों ने पैसे के विवाद में हत्या का आरोप लगाया है।

शाहगंज के गढ़ी सराय मुहल्ले में रहने वाला इदरीश का बेटा खुर्शीद वेल्डिंग का काम करता था। वह तीन भाई और दो बहनों में बड़ा था। कहा जा रहा है कि बुधवार शाम को खुर्शीद अकेले स्कूटी लेकर घर से निकला था। रात करीब साढ़े 10 बजे मीरापुर मुहल्ले में कालरा र्निसंग होम के पास वह खून से लथपथ सड़क पर पड़ा था। सूचना पर पहुंची पुलिस उसे जख्मी हालत में काल्विन अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने खुर्शीद के मोबाइल के जरिए घरवालों से संपर्क किया। अस्पताल पहुंचने पर उन्हें मौत का पता चला तो बिलख पड़े। घरवालों का कहना है कि खुर्शीद ने सऊदी अरब में नौकरी दिलाने वाले एक शख्स को पैसा दिया था, जिससे विवाद हुआ था। कुछ रिश्तेदारों ने पुलिस को बताया कि किसी ने फोन करके खुर्शीद को मीरापुर में बुलाया था, जिसके आधार पर पुलिस मोबाइल को कब्जे में लेकर उसकी जांच कर रही है। वहीं, दोस्तों में यह भी चर्चा थी कि शाम चार बजे कुछ युवकों ने खुर्शीद को जान से मारने की धमकी दी थी, जिनके बारे में पता लगाया जा रहा है। इंस्पेक्टर अतरसुइया दीपक सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्थिति साफ होगी। 

 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस