प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज शहर के करेली थाने में पांच-पांच सौ रुपये की नोट गिनने के बाद अपने पास रखने वाले मुंशी पर निलंबन की तलवार लटक गई है। बताया जाता है कि जांच में मुंशी ने साफ तौर यह नहीं बता रहा है कि उसने पैसा किससे और क्यों लिया था। अलबत्ता कुछ अधिकारियों को उसने पहले बयान दिया था कि शमन शुल्क की राशि को जमा किया था। मगर जब रजिस्टर की जांच हुई तो रकम उससे ज्यादा पाई गई है। माना जा रहा है कि शुक्रवार तक उसे निलंबित किया जा सकता है।

12 सेकेंड का वायरल वीडियो करेली थाने का बताया जा रहा

वीडियो करेली थाने का बताया जा रहा है। 12 सेकेंड के इस वीडियो में एक शख्स कार्यालय कक्ष में बैठे मुंशी को पांच-पांच सौ रुपये की कई नोट देता है, जिसे गिनने के बाद मुंशी अपने पास रख लेता है। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि पैसा किसी फरियादी से लिया जा रहा है या फिर किसी दूसरे मामले में। वीडियो कब और किसने बनाया, इसका भी पता नहीं चल सका है। कहा जा रहा है कि पुलिस अपनी जांच में सारे तथ्यों का पता लगाएगी।

मुंशी के खिलाफ पहले भी हो चुकी है शिकायत

पुलिस विभाग में चर्चा है कि पैसा लेने वाले मुंशी के खिलाफ पहले भी कई बार शिकायत हुई थी। यह वीडियो उस वक्त वायरल हुआ है, जब पुलिस अधिकारी भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टालरेंस की नीति अपनाने का दावा कर रहे हैं। हालांकि इंटरनेट पर वायरल वीडियो को लेकर कतिपय पुलिसकर्मियों की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं।

एसपी सिटी बोले- वायरल वीडियो की होगी जांच फिर कार्रवाई

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह का कहना है कि वायरल वीडियो का मामला संज्ञान में आया है। इस संबंध में एसएसपी को रिपोर्ट भेजी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

बारा थाने के सिपाही का आडियो हो चुका है वायरल

इससे पहले बारा थाने में तैनात एक सिपाही के घूस मांगने का आडियो, नैनी थाने के एक सिपाही का पैसा लेते हुए वीडियो सामने सामने आया था। विभागीय जांच में दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई हुई थी।

Edited By: Brijesh Srivastava