प्रयागराज,जेएनएन। यमुनापार के कुख्यात भूमाफिया और हिस्ट्रीशीटर मो. जावेद उर्फ पप्पू गंजिया को मंगलवार शाम पुलिस फार्म हाउस में छापा मारते हुए पकड़ लिया। इसकी जानकारी होते ही पत्नी व बच्चे फार्म हाउस पर पहुंच गए और पुलिस वालों से झड़प कर ली। हालांकि पुलिस ने उन्हें किसी तरह शांत करा दिया। डॉक्टर बंसल हत्याकांड, पूर्व ब्लॉक प्रमुख दिलीप मिश्रा से रिश्ते और आर्थिक स्रोत के मामले में उससे पूछताछ चल रही है।

सभासद रह चुके पप्‍पू गंजिया पर दर्ज हैं कई आपराधिक मुकदमें

नैनी थाना क्षेत्र के गंजिया गांव निवासी मो. जावेद सभासद भी रह चुका है। उसके खिलाफ कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। गांव में ही उसका मकान के बगल में बड़ा फार्म हाउस है। कहा जा रहा है कि कुछ दिन पहले पुलिस और क्राइम ब्रांच यमुनापार के कई बदमाशों को उठाकर पूछताछ की थी। तभी पप्पू गंजिया के बारे में भी पुलिस के हाथ कई जानकारी लगी। छानबीन के दौरान मंगलवार शाम पुलिस को पता चला कि पप्पू अपने फार्म हाउस पर मौजूद है। इस पर एएसपी अनिल यादव, सीओ करछना आशुतोष तिवारी ने क्राइम ब्रांच और कई थाने की फोर्स के साथ उसके फार्म हाउस पर छापा मार दिया। देखते ही देखते वहां ग्रामीणों की भीड़ जुट गई।

पुलिस से घरवालों ने की झडप

पत्नी नगीना और बेटा गोलू भी पहुंच गए। पकडऩे का विरोध करते हुए हंगामा शुरू दिया। किसी तरह पुलिस ने भीड़ के बीच पप्पू को सरकारी वाहन में बैठाकर उठा ले गई। अधिकारियों का कहना है कि नैनी जेल के सामने हुई हत्या, पूर्व विधायक के संबंध में भी कुछ जानकारी मिली है, जिसको लेकर पूछताछ की जा रही है। सीओ करछना आशुतोष तिवारी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर पप्पू गंजिया को पूछताछ के लिए उठाया गया है। उसका कई लोगों से कनेक्शन हैं। आर्थिक स्रोत से लेकर अन्य मसलों पर जानकारी जुटाई जा रही है।

 

हिस्ट्रीशीटर से तलाशे जा रहे पूर्व विधायक के सुराग

हिस्ट्रीशीटर मोहम्मद जावेद उर्फ पप्पू गंजिया के पकड़े जाने से अतीक के करीबियों और दूसरे बदमाशों में खलबली मच गई है। कहा जा रहा है कि क्राइम ब्रांच की टीम पप्पू से एक लाख के इनामी पूर्व विधायक अशरफ के बारे में सुराग जुटा रही है। साथ ही उसके दूसरे साथियों की तलाश में छापेमारी हो रही है।

फार्म हाउस पर आने वाले लोगों के बारे में हो रही पूछताछ

पुलिस का कहना है कि झूंसी में गिरफ्तार किए गए क्षेत्र पंचायत सदस्य राजकुमार यादव से पूछताछ में कई जानकारी सामने आई थी। पता चला था कि अशरफ के बेहद करीबियों का पप्पू के फार्म हाउस पर आना-जाना होता था। इसमें कई आपराधिक प्रवृत्ति के शख्स और सफेदपोश अपराधी भी रहते थे। ऐसे में फार्म हाउस में कौन-कौन आता था, उनका मकसद क्या था और उनसे पप्पू का क्या रिश्ता है, ऐसे कई सवालों के जवाब की तलाश की जा रही है। पूर्व सांसद अतीक का छोटा भाई अशरफ के बारे में भी पूछताछ चल रही है।

नैनी जेल के सामने हुए दोहरे हत्‍याकांड में भूमिका की जांच

पुलिस अधिकारियों का यह भी कहना है कि राजकुमार से 2016 में नैनी जेल के सामने हुई दो लोगों की हत्या के बारे में भी सुराग मिला है। उस हत्याकांड में भी पप्पू गंजिया के भूमिका की जांच की जा रही है। जेल के सामने झूंसी के शेरडीह निवासी ज्ञानचंद्र उर्फ वकील और उसके चाचा लालता को गोली, बम से भून डाला गया था। हालांकि उस हत्याकांड का पर्दाफाश हो चुका है और मुन्ना बजरंगी के शूटर समेत कई को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। सीओ करछना आशुतोष तिवारी का कहना है कि पप्पू की आपराधिक गतिविधि में साथ देने वालों की भी तलाश की जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस