इलाहाबाद : दाएं हाथ से अपने सभी काम करने वाले विजय ने आखिर बाएं हाथ से कैसे गोली चलाई थी। क्‍योंकि पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में उसकी बायीं कनपटी पर गोली लगने की पुष्टि हुई है। उसने आत्‍महत्‍या की या फिर उसकी हत्‍या कर दी गई। इन पेंचों को पुलिस सुलझाने का प्रयास कर रही है। वंशिका और विजय की गोली लगने से हुई मौत मामले में आनर किलिंग के एंगिल पर भी पुलिस ने अपनी जांच को रखा है।

झूंसी में छात्रा को गोली मारने के बाद युवक के आत्महत्या करने के मामले में पुलिस की जांच ऑनर किलिंग को लेकर आगे बढ़ रही है। युवती को तो युवक ने मारा लेकिन फिर युवक को किसने गोली मारी इसे लेकर पेंच फंसा है। जबकि विजय के बड़े भाई मोहन का कहना है कि विजय खाना खाने से लेकर हर काम अपने दाहिने हाथ से करता था। ऐसे में बड़ा सवाल यही है कि आखिर विजय ने खुद को बाएं हाथ से गोली कैसे मारी। गुरुवार को घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद एसएसपी नितिन तिवारी ने कहा था कि विजय ने खुद के सिर पर दाहिनी तरफ से गोली मारी थी, जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट से अलग है। ऐसे में विजय के कत्ल की कहानी को बल मिल रहा है।

बता दें कि गुरुवार शाम झूंसी थाना क्षेत्र के न्याय नगर कॉलोनी स्थित दुर्गा मंदिर परिसर में बीटीसी द्वितीय वर्ष की छात्रा वंशिका सोनी पुत्र रमेश चंद्र और विजय यादव पुत्र स्व. प्यारेलाल की गोली मारकर हत्या की गई थी। वंशिका के मामा लवकुश ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि विजय ने पहले वंशिका की हत्या की और फिर खुद को गोली मारकर जान दे दी। हालांकि घटना स्थल की क्राइम सीन और आसपास के लोग कुछ दूसरी कहानी बता रहे थे। ऐसे में कुछ लोग ऑनर किलिंग की भी आशंका जता रहे हैं।

वंशिका को दो, विजय को मारी एक गोली
पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पुलिस को पता चला है कि छात्रा वंशिका को दो गोली मारी गई है। एक गोली उसके पेट से मिली है। पहली गोली बायीं कनपटी की तरफ से लगी और मुंह के पास से निकल गई। जबकि दूसरी गोली सीने पर मारी गई थी, जो पेट में फंसी मिली। वहीं, विजय के सिर पर बायीं तरफ से गोली मारी गई, जो सिर की हड्डी और भेजा को उड़ाते हुए बाहर निकल गई थी। डीजीपी ऑफिस से भी दोनों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मांगी गई है।