प्रयागराज, जेएनएन। छह माह पूर्व विवाहिता की ससुराल में संदिग्ध मौत हो गई थी। ससुरालवालों ने उसका शव दफना दिया। मायके के लोगों ने दहेज हत्या का आरोप लगाया लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी। कोर्ट के आदेश पर डीएम ने मामले को संज्ञान में लिया। शनिवार को पुलिस ने कब्र खोदवा कर शव को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि महिला की कैसे मौत हुई। हालांकि ससुराल के लोगों का कहना है कि विवाहिता की मौत सांप काटने से हुई थी। मामला पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ का है। 

ससुराल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी

हथिगवां थाना क्षेत्र के कैमा गांव निवासी नियाज शाह ने अपनी बेटी नसरीन बानो की शादी इसी इलाके के फकीराबाद सराय सैयद खां गांव निवासी सरताज अहमद के साथ दो वर्ष पूर्व की थी। उसकी एक बेटी अलनाज फातिमा है। तीन सितंबर को नसरीन बानो की ससुराल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। ससुराली जनों ने मायके पक्ष के लोगों को सूचना दी कि नसरीन की सांप काटने से मौत हो गई है। यह भी कहा कि उसका शव गांव के किनारे कब्रिस्तान में दफन कर दिया गया है। 

कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ हत्‍या का केस

जानकारी होने पर पहुंचे मायका पक्ष के लोगों का कहना था कि बेटी की दहेज के लिए गला दबाकर हत्या कर दी गई है। इसकी शिकायत पुलिस से भी की गई लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। इस पर मायके पक्ष के लोगों ने न्यायालय का सहारा लिया। न्यायालय के आदेश पर 12 फरवरी को पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू की। इसी बीच आठ मार्च को जिलाधिकारी ने दफन हुए शव को निकाल कर पोस्टमार्टम कराने का निर्देश दिया।  

प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में कब्र से निकाला शव

डीएम के निर्देश पर शनिवार को एसडीएम कुंडा जल राजन चौधरी, सीओ कुंडा राधेश्याम सिंह एवं एसओ हथिगवां उदय त्रिपाठी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। अधिकारियों की मौजूदगी में दफन किए गए शव को पुलिस ने बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस दौरान काफी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद रहे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस