प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ में स्वॉट टीम और मानधाता पुलिस ने अंतरराज्यीय एटीएम हैकर गिरोह का राजफाश किया। तीन शातिरों को गिरफ्तार किया। उनमें से एक ग्राम प्रधान है। शातिरों के कब्जे से पुलिस ने क्लोङ्क्षनग मशीन, एटीएम कार्ड रीडर, रिवाल्वर-तमंचा आदि बरामद किया है। गिरोह के सरगना समेत सात शातिरों की पुलिस तलाश कर रही है।

बुआपुर नहर पुलिया से किया गया गिरफ्तार

जिले में काफी दिनों से एटीएम कार्ड बदलकर पैसा निकालने के मामले सामने आ रहे थे। ऐसे में पुलिस को एटीएम हैकरों के गिरोह की तलाश थी। इस बीच स्वाट टीम प्रभारी अजय सिंह और मानधाता एसओ विपिन सिंह, दारोगा प्रमोद सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि एटीएम हैकर गिरोह के तीन शातिर मानधाता की ओर से विश्वनाथगंज बाजार आने वाले हैं। इस पर पुलिस टीम शुक्रवार दोपहर बुआपुर नहर पुलिया पर पहुंचकर शातिरों के आने का इंंतजार करने लगी। पुलिस ने नजदीक आने पर बाइक सवार तीनों शातिरों को रुकने का इशारा किया तो वे भागने लगे। इतने में पुलिस टीम ने घेरेबंदी करके तीनों शातिरों को पकड़ लिया।

लैपटॉप, एटीएम क्लोङ्क्षनग मशीन, एटीएम कार्ड रीडर मशीन, सीडी आदि बरामद

गिरफ्तार आरोपितों में बृजेश ङ्क्षसह उर्फ चंचल ङ्क्षसह पुत्र सुरेंद्र बहादुर ङ्क्षसह व कौशलेंद्र प्रताप ङ्क्षसह उर्फ छोटू ङ्क्षसह पुत्र स्व. सत्येंद्र प्रताप ङ्क्षसह निवासीगण लाखापुर और सहिजनपुर गांव का प्रधान प्रवीण कुमार ङ्क्षसह पुत्र गिरजाशंकर ङ्क्षसह हैं। उनके कब्जे से पुलिस ने लैपटॉप, एक एटीएम क्लोङ्क्षनग मशीन, दो एटीएम कार्ड रीडर मशीन, सीडी, 10 एटीएम कार्ड, छह मोबाइल, एक रिवाल्वर, दो तमंचा, दो बाइक और साढ़े सात हजार रुपये बरामद किया। पकड़े गए शातिरों से पूछताछ में पुलिस को अंतरराज्यीय हैकरों के गिरोह के बारे में पता चला।

आस-पास के जिलों के साथ मध्यप्रदेश में सक्रिय रहा गिरोह

पुलिस लाइन के सई कांप्लेक्स में प्रेस कांफ्रेंस में एएसपी पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने बताया कि पकड़े गए शातिरों ने पूछताछ में कबूल किया है कि गिरोह का सरगना रणजीत ङ्क्षसह पुत्र स्व. धर्मदास ङ्क्षसह निवासी अकोढ़यिा है। गिरोह में इनके अलावा रवि पटेल पुत्र राजू पटेल, रणजीत सरोज उर्फ कल्बे पुत्र धर्मराज, कोटेदार विनोद निर्मल व दीपक ङ्क्षसह पुत्र स्वर्गीय वीरेंद्र ङ्क्षसह निवासीगण सहिजनपुर, धीरू ङ्क्षसह उर्फ जितेंद्र निवासी करमचंदपुर जेठवारा, गजेंद्र प्रताप ङ्क्षसह उर्फ अन्नू निवासी अहिना भी शामिल हैं। यह गिरोह लगभग 10-12 साल से आस-पास के जिलों, मध्यप्रदेश में सक्रिय रहा है।

एटीएम से दूसरे के खाते से निकाल लेते थे रुपये

गिरोह के शातिर जालसाजी करके एटीएम से दूसरे के खाते से पैसा निकाल लेते हैं। कुछ दिन पहले चिलबिला में आइसीआइसीआइ बैंक के एटीएम से 10 हजार रुपये और पांच दिन पहले नैनी में स्टेट बैंक के एटीएम से 20 हजार रुपये निकाल लिए थे।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप