कौशांबी,जेएनएन। जिले के परिषदीय स्कूलों में तैनात शिक्षामित्रों की जांच हो रही है। सभी खंड शिक्षा अधिकारियों ने शिक्षामित्रों से जुड़ी पत्रावली स्कूलों से मांगी है। बीआरसी स्तर पर इसकी जांच होगी। यदि किसी शिक्षामित्र की चयन प्रक्रिया व तैनाती में गड़बड़ी मिली तो उस पर कार्रवाई होगी।

 जिले में तैनात हैं 1373 शिक्षामित्र

     बेसिक शिक्षा विभाग में इन दिनों 1373 शिक्षामित्र विभिन्न विद्यालयों में तैनात हैं। इनकी तैनाती वर्ष 2000 से 2008 के मध्य हुई है। शिक्षकों के फर्जीवाड़ा कर नौकरी पाने के तमाम मामले सामने आने के बाद से शिक्षा विभाग ने शिक्षामित्रों की भी कुंडली खंगालना शुरू कर दिया है। अब हर स्कूल में तैनात शिक्षामित्र से जुड़ी जानकारी संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक से मांगी गई है। उनके चयन प्रक्रिया से लेकर तैनाती तक क्या-क्या पत्र व्यवहार किया गया।

दस्‍तावेजों की होगी जांच

तैनाती के दौरान किस प्रकार से प्रस्ताव बनाया गया। आदि से जुड़ी सत्यापित जानकारी सभी प्रधानाध्यापकों को खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में देना होगा। इनके दस्तावेजों की जांच होगी। जांच के दौरान गड़बड़ी मिली तो शिक्षामित्र के खिलाफ कार्रवाई होगी।

दस्‍तावेजों में कर्मी मिलने पर होगी कार्रवाई

कौशांबी के प्रभारी बीएसए डॉ.अविनाश सिंह ने बताया कि शिक्षामित्रों की तैनाती से लेकर उनकी ज्वाइनिंग तक जो भी प्रक्रिया अपनाई गई है। इसकी जानकारी सभी प्रधानाध्यापकों से मांगी गई है। कार्यभार ग्रहण करने और वर्तमान में उनके पास उपलब्ध दस्तावेजों का मिलान होगा।  कहीं खामी मिली तो शिक्षामित्र के खिलाफ कार्रवाई होगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस