जासं, इलाहाबाद : बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) की गड़बड़ी के कारण नगर निकाय चुनाव में जो मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं कर सके थे। उनकी शिकायतें भी स्थानीय स्तर पर अधिकारियों द्वारा नहीं सुनी गई। ऐसे मतदाताओं को शिकायत करने का अवसर स्वयं राज्य निर्वाचन आयोग ने दिया है। अब मतदाता बीएलओ की शिकायत सीधे आयोग के लिंक द्धह्लह्लश्च://ह्यद्गष्.ह्वश्च.ठ्ठद्बष्.द्बठ्ठ/ह्यद्बह्लद्ग/द्घद्गद्गस्त्रढ्डड्डष्द्म.ड्डह्यश्च3 पर कर सकते हैं।

बीते रविवार को यहां नगर निगम और नगर पंचायत क्षेत्रों में दूसरे चरण के लिए वोट डाले गए थे। लोग बूथ तक पहुंचे भी, लेकिन हजारों लोगों का नाम लिस्ट में न होने से वापस लौटना पड़ा था। पूरी बस्ती ही वोटर लिस्ट से नदारत थी। इसको लेकर लोगों में आक्रोश था। गड़बड़ियों के लिए मतदाताओं ने सारा ठीकरा बीएलओ पर फोड़ा था। इतने बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां तब रह गई थीं, जबकि मतदाता पुनरीक्षण का वृहद कार्य तीन-चार दौर में चला था। अशोक नगर के मऊसरैया में करीब पांच सौ मतदाताओं, म्योर रोड पर लगभग सौ-डेढ़ सौ, कृष्णा नगर कीडगंज, मुट्ठीगंज में भी बड़ी संख्या में वोटरों के नाम गायब थे। मीरापुर के शास्त्रीनगर में कई लोगों का कुनबा, सिविल लाइंस में ताशकंद मार्ग पर बड़ी संख्या में मतदाताओं के नाम सूची से गायब थे। दायराशाह अजमल, नखास कोहना, हमाम गली में रहने वाले लगभग 545 लोगों के नाम वोटरलिस्ट में नहीं थे। शिवकुटी में 16 हजार की जनसंख्या पर करीब 10 हजार ही वोटर थे। फाफामऊ में गंगा नगर और नई बस्ती के तो सभी मतदाताओं के नाम सूची से गायब थे। इसी तरह हरवारा, प्रीतमनगर, हिम्मतगंज, अल्लापुर, दारागंज, जार्जटाउन, टैगोर टाउन, भुसौली टोला, शाहगंज समेत कई क्षेत्रों में भी सैकड़ों लोगों के नाम वोटर लिस्ट में नहीं थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस