प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सर सुंदरलाल छात्रावास में रैगिंग का मामला उजागर हुआ था। फिर चैथम लाइन स्थित शताब्दी ब्वॉयज हॉस्टल में भी रैगिंग की घटना सामने आई। इस पर इविवि प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाया है। इस प्रकरण में इविवि प्रशासन ने चार छात्रों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

कुलानुशासक कार्यालय में उपस्थित होकर जवाब देंगे रैगिंग करने वाले छात्र

इविवि के चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर राम सेवक दुबे ने हॉस्टल में रहने वाले बीए एलएलबी द्वितीय वर्ष के छात्र प्रणव प्रकाश, विशाल मजूमदार, उत्कर्ष चौरसिया और बीए तृतीय वर्ष के छात्र सौरव रंजन को नोटिस जारी किया है। नोटिस में उन्होंने कहा कि नवप्रवेशी छात्रों के अभिभावकों की ओर से रैगिंग की शिकायत मिली है। इसमें इन सभी की संलिप्तता मिली। ऐसे में चारों छात्रों को 16 अगस्त यानी आज शाम चार से पांच बजे के बीच कुलानुशासक कार्यालय में उपस्थित होकर जवाब देने को कहा गया है। मामले में उन्होंने मुकदमा दर्ज कराते हुए हॉस्टल से निष्कासित करने का भी अल्टीमेटम दिया है।

22 अगस्त को होगी एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू की अध्यक्षता में गठित एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक 22 अगस्त को अपराह्न तीन बजे नॉर्थ हाल सभागार में होगी। चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे ने बताया कि कमेटी रैगिंग से संबंधित सभी प्रकरणों पर विचार करके निर्णय लेगी। इसके बाद उस निर्णय को एंटी रैगिंग सेल और मानव संसाधन विकास मंत्रालय से अवगत कराएगी और आरोप साबित होने पर कड़ी कार्रवाई भी करेगी।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस