प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में शिक्षकों की भारी कमी है। कोई भी संस्थान शिक्षकों के भरोसे ही चलता है। इविवि में शिक्षकों की नियुक्ति का मामला मानव संसाधान विकास मंत्रालय तक पहुंचाऊंगी। यह बातें इलाहाबाद की सांसद डॉ. रीता जोशी ने कही।

गांधी सप्ताह के समापन समारोह में शामिल हुईं सांसद

सांसद डॉ. रीता जोशी इलाहाबाद विश्वविद्यालय के गांधी भवन में आयोजित गांधी सप्ताह के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहीं थीं। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत में इविवि के बरगद को सूखने नहीं दिया जाएगा। समारोह की अध्यक्षता करते हुए इविवि के कुलपति प्रोफेसर रतन लाल हांगलू ने कहा कि गांधी के रास्ते नव साम्राज्यवाद से लड़ा जा सकता है। प्लास्टिक मुक्त भारत पर उन्होंने कहा कि चीन के प्लास्टिक बाजार से लडऩे के लिए नए इनोवेशन एवं गांधी के लघु एवं कुटीर उद्योगों की अवधारणा को साकार करना होगा। आज हथियारों से नहीं विचारों से लडऩे की आवश्यकता है।

प्रतियोगिता के विजेताओं को सम्मानित  किया गया

समापन समारोह में गांधी सप्ताह के अंतर्गत आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता के विजेताओं को सम्मानित भी किया गया। कुलपति ने गांधी संस्थान के निदेशक प्रोफेसर वीके राय को बेस्ट प्रोफेसर इन गांधियन आइडियोलॉजी स्टडीज से सम्मानित किया। अतिथियों का स्वागत प्रो. वीके राय, संचालन डॉ. राजेश सिंह व धन्यवाद ज्ञापन प्रो. संतोष भदौरिया ने किया। इस दौरान सांस्कृतिक समिति के अध्यक्ष प्रो. अजय जेटली, डीन कला संकाय प्रो. पीके साहू, चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे, प्रो. केएस मिश्र, प्रो. आशीष सक्सेना, प्रो. जेएस सिंह, डॉ. राहुल पटेल, डॉ. ज्योति मिश्रा, धीरेंद्र प्रताप, जावेदा रजा, अखिलेश पाल, जितेंद्र शुक्ल आदि मौजूद रहे।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप