प्रयागराज, जेएनएन। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इन दिनों प्रदेश सरकार की ओर से मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में कुलभास्कर आश्रम पीजी कालेज में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने को लेकर सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें डॉ. अमित पांडेय ने कहा कि भारतीय समाज में नारी का स्थान अनादिकाल से सब से ऊपर रहा है। मान्यता रही है कि जहां नारी का सम्मान नहीं वह समाज कभी तरक्की नहीं कर सकता।

सभी स्तर पर हमें प्रयास करना होगा: डॉ. अमित पांडेय

डॉ. अमित पांडेय ने कहा कि इसके बाद भी आज यदि महिलाएं पिछड़ी हैं या फिर उनके साथ अन्याय हो रहा है तो इसके कई कारक हैं। पहला देश पर हुए तमाम आक्रमण और हजारों साल की गुलामी के कारण हमारी संस्कृति का पतन हुआ। सामाजिक स्वरूप बदला। आर्थिक ढांचा भी बदल गया। शिक्षा के स्तर में भी काफी गिरावट आई। इन सभी स्तर पर हमें प्रयास करना होगा, तभी स्वस्थ समाज बनेगा और नारी का भी सम्मान बढ़ेगा।

सशक्त राष्ट्र के लिए नारी का सशक्त होना जरूरी: डॉ. अर्चना सिन्हा

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. अर्चना सिन्हा ने भी नारी शक्ति पर प्रकाश डाला। कहा कि सशक्त राष्ट्र के लिए नारी का सशक्त होना जरूरी है। यदि महिलाओं को देश, समाज व परिवार की पहली इकाई कहें तो गलत नहीं होगा। जब तक घर में महिलाओं को शिक्षा देने के साथ उन्हें गरिमापूर्ण स्थिति में नहीं रखा जाएगा, तब तक समाज की विसंगतियों को नहीं मिटाया जा सकता। कार्यक्रम का संचालन डॉ. आभा त्रिपाठी और आभार डॉ. मनीष श्रीवास्तव ने प्रकट किया। कार्यक्रम में डॉ. मनीष श्रीवास्तव, डॉ. आरए अवस्थी, डॉ. एसपी यादव, डॉ. प्रिया श्रीवास्तव, डॉ. मनोज कुमार सिंह, डॉ. परम, डॉ. आदेश वर्मा, डॉ. अखिलेश चंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Brijesh Srivastava