प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज के मीरापुर में छात्र सिद्धार्थ सिंह के घर बमबाजी करने के आरोपित अपना-अपना घर ही नहीं, बल्कि शहर छोड़कर भाग निकले हैं। अभियुक्तों ने अपना मोबाइल नंबर भी बंद कर लिया है। ऐसे में पुलिस के सामने उन्हें पकड़ने की चुनाैती पेश आ रही है। मगर पुलिस का दावा है कि सभी संदिग्ध ठिकानों और करीबियों के घर पर छापेमारी की जा रही है। जल्द ही उन्हें दबोच लिया जाएगा।

आरोपितों के साथियों को पुलिस ने पकड़ा तो खुला राज

अतरसुइया पुलिस ने गुरुवार देर रात जब नामजद आरोपितों के कुछ साथियों को उठाकर पूछताछ की तो पता चला कि वह मुकदमा लिखे जाने के बाद से शहर में नहीं नजर आ रहे हैं। किसी से बातचीत भी नहीं कर रही है। लिहाजा अब पुलिस उन तक पहुंचने के लिए नया तरीका खोज रही है।

चार नामजद व दाे अज्ञात पर दर्ज है केस

मामले में अतरसुइया पुलिस ने बैदनटोला शाहगंज निवासी आकिब, बंटा व करेली के हमदू माया व जमान को नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ मुकदमा कायम किया है। घटना के पीछे स्कूल में हुए विवाद को वजह बताया गया है। पुलिस ने आराेपितों की तलाश में शाहगंज और करेली में छापेमारी की, लेकिन वह घर पर नहीं मिले। पुलिस का दावा है कि आरोपितों के मकान को चिंहित कर लिया गया है। अब उनकी गिरफ्तारी होने पर यह पता चल सकेगा कि पहले से आपराधिक मुकदमा तो दर्ज नहीं है। उधर, बमबाजी में जख्मी सिद्धार्थ की हालत में सुधार हुआ है। हालांकि इस घटना से छात्र का परिवार खौफजदा है।

11वीं के छात्र पर बदमाशों ने किया था हमला

नेहरू नगर मीरापुर निवासी रंजीत का बेटा सिद्धार्थ शिवचरण दास कंहैया लाल इंटर कालेज 11वीं का छात्र है। उसका कुछ दिन पहले स्कूल में कतिपय छात्रों से किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। बुधवार शाम जब वह अपने घर के बाहर मौजूद था, तभी वहां बाइक से पहुंचे युवकों ने ताबड़तोड़ बमबाजी की थी। बम का छर्रा लगने से सिद्धार्थ जख्मी हो गया था। फिलहाल चौकी इंचार्ज मीरापुर मुदित राय का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर हमलावरों की तलाश की जा रही है।

Edited By: Brijesh Srivastava